ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारNEET Paper Leak: EOU की पूछताछ में सिर्फ 2 ही अभ्यर्थी पहुंचे, 7 गायब, जानिए क्या सवाल पूछे गए

NEET Paper Leak: EOU की पूछताछ में सिर्फ 2 ही अभ्यर्थी पहुंचे, 7 गायब, जानिए क्या सवाल पूछे गए

नीट पेपर लीक मामले में आज ईओयू ने दो अभ्यर्थियों से पूछताछ की। इस दौरान 7 संदिग्ध अभ्यर्थी गायब रहे। एनटीए ने 9 संदिग्धों की लिस्ट दी थी। दोनों छात्राओं से अलग-अलग और साथ में पूछताछ हुई।

NEET Paper Leak: EOU की पूछताछ में सिर्फ 2 ही अभ्यर्थी पहुंचे, 7 गायब, जानिए क्या सवाल पूछे गए
Sandeepहिन्दुस्तान ब्यूरो,पटनाWed, 19 Jun 2024 08:10 PM
ऐप पर पढ़ें

नीट प्रश्न पत्र लीक मामले में ईओयू (आर्थिक अपराध इकाई) के कार्यालय में बुधवार को दो अभ्यर्थियों से पूछताछ की गई। दोनों से करीब 3 घंटे तक पूछताछ चली। एक अभ्यर्थी बख्तियारपुर की ईशा भारती और दूसरी समस्तीपुर की रहने वाली है। पूछताछ के बारे में ईओयू ने कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी है। लेकिन, विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, दोनों को एक साथ बैठाकर और अलग-अलग भी पूछताछ की गई है। इनके अभिभावकों से भी जानकारी प्राप्त की गई है। 

दोपहर करीब 12 बजे सबसे पहले बख्तियारपुर की रहने वाली ईशा भारती अपने पिता के साथ कार्यालय पहुंची। कार्यालय के अंदर जाने के दौरान मीडिया से बात करते हुए उसने बताया कि उसका परीक्षा केंद्र दानापुर के इंदिरापुरम के एक स्कूल में था। उसके पिता ने बताया कि उन्हें नोटिस मिला था, जिसके बाद वे कार्यालय आए हैं।

इसके थोड़ी देर बाद दूसरी अभ्यर्थी भी अपने परिजन के साथ कार्यालय पहुंची। लेकिन, इन्होंने कुछ भी बताने से मना कर दिया। वह जिस गाड़ी से आई थी, उस पर डॉक्टर का स्टीकर चिपका हुआ था। पूछताछ करने पर पता चला कि यह डॉक्टर एक बड़े निजी अस्पताल से जुड़े हुए हैं। हालांकि इनके चालक ने बताया कि डॉक्टर साहब के ये लोग मित्र हैं। उनके कोई परिवार के सदस्य नहीं हैं। 

यह भी पढ़िए- नीट पेपर लीक में कई गिरोह, मास्टरमाइंड गिरफ्त से दूर; बिहार से महाराष्ट्र पहुंची जांच की आंच

ये सवाल पूछे गए
दोनों से सीधे सवाल पूछे गए। पूछा गया कि क्या इन्हें परीक्षा के पहले कोई प्रश्न पत्र मिला था। अगर हां, तो कहां से मिला था, किसने दिया था। प्रश्न पत्र लीक मामले में क्या-क्या जानते हैं। क्या किसी ऐसे लोगों को जानते हैं, जिनका सरोकार इस तरह के रैकेट से है। हालांकि अभ्यर्थियों ने कहा कि इनका इस तरह के किसी मामले से कोई लेनादेना नहीं है और न ही इन्हें किसी बात की जानकारी है। 

9 अभ्यर्थी में केवल दो ही पहुंचे
ईओयू ने इस मामले में 9 अभ्यर्थियों को पूछताछ के लिए 18 और 19 जून को पटना स्थित अपने कार्यालय में बुलाया था। ये वही 9 अभ्यर्थी हैं, जिनके रोल नंबर और कोड समेत अन्य जानकारी ई-मेल के माध्यम से एनटीए (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) ने ईओयू को भेजी थी। ईओयू के स्तर से तीन बार जानकारी मांगने के बाद बस एक ही ई-मेल के जरिए इतनी जानकारी दी गई है। इसके अलावा अब तक कोई जानकारी नहीं मिली है। ईओयू के बुलाने के बाद भी 18 जून को अभ्यर्थी ईओयू कार्यालय नहीं पहुंचे थे। परंतु 19 जून को दो अभ्यर्थी पूछताछ के लिए हाजिर हुए।