अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

NDA पेपर लीक मामला: आरोपित छात्र का खुलासा, परीक्षा सेंटर पर नहीं हुई थी मोबाइल की जांच

Symbolic Image

एएन कॉलेज स्थित परीक्षा सेंटर पर परीक्षार्थियों की जांच ही नहीं हुई थी। इस कारण आरोपित छात्र सौरभ आनंद आराम से मोबाइल ले गया था। इसके बाद उसने एनडीए परीक्षा का पर्चा लीक करना शुरू कर दिया। यहां से लीक हुआ पर्चा देश के कई शहरों में भेजा गया था।

यह खुलासा किया है दो दिनों की पुलिस रिमांड पर लाए गए आरोपित छात्र सौरभ आनंद ने। रविवार को हुई पुलिसिया पूछताछ में उसने कई अहम राज से पर्दा उठाया। सौरभ ने अपने चार साथियों के नाम का खुलासा किया है, जो उसका साथ दे रहे थे। खबर है कि पुलिस ने उसकी निशानदेही पर छापेमारी शुरू कर दी है। पढ़ाई में अव्वल रहने वाले सौरभ ने बताया कि सभी सवालों के जवाब उसे मोबाइल पर आसानी से मिल रहे थे। अगर पूछताछ में पुलिस अधिकारी सौरभ के जवाबों से संतुष्ट नहीं हुए तो दोबारा उसे रिमांड पर लेने की अर्जी पुलिस कोर्ट में देगी। 

देश के शहरों में बैठे माफिया निशाने पर
पुलिस सूत्रों की मानें तो सौरभ के बयान के बाद देशभर के कई परीक्षा माफिया निशाने पर हैं। पटना से लेकर वाराणसी, इलाहाबाद और दिल्ली में बैठे सेटरों के नाम का पता पुलिस को चल चुका है। 

कॉलेज के कर्मियों भी सवालों के घेरे में
एएन कॉलेज के कई कर्मचारी भी सवालों के घेरे में हैं। आखिर वहां मोबाइल की जांच क्यों नहीं की गई? कुछ कर्मियों का कहना था कि मोबाइल चेक करना पुलिस का काम है, लेकिन सवाल यह भी उठने लगा है कि क्या पूरी परीक्षा पुलिस के भरोसे हो रही थी? कॉलेज प्रशासन क्या कर रहा था। सौरभ ने अपने बयान में कहा है कि परीक्षा शुरू होने के बाद कॉलेज के दो कर्मी आए और मौखिक रूप से परीक्षार्थियों के पास मोबाइल होने की बात पूछी। फिर दोनों वापस चले गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NDA paper leak case accused student revealed that mobile was not checked at the examination center