ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारगया में नक्सली वारदात; हथियारबंद दस्ते घर में सोए युवक की गोली मार कर दी हत्या, माओवादी जिंदाबाद के लगाए नारे

गया में नक्सली वारदात; हथियारबंद दस्ते घर में सोए युवक की गोली मार कर दी हत्या, माओवादी जिंदाबाद के लगाए नारे

हीरा यादव अपने दालान पर सोए हुए थे जिसका गेट खुला हुआ था। हथियार बंद दस्ते ने उनकी कनपटी और पेट में दो गोली दी। ग्रामीण जबतक स्थल पर पहुंचे तो खून से लथपथ हीरा की मौत हो चुकी थी।

गया में नक्सली वारदात; हथियारबंद दस्ते घर में सोए युवक की गोली मार कर दी हत्या, माओवादी जिंदाबाद के लगाए नारे
Sudhir Kumarहिन्दुस्तान,गयाSat, 15 Jun 2024 10:15 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के गया में गुरुवार की मध्यरात्रि हथियारबंद दस्ते ने घर में सोए हीरा यादव (40 वर्ष) को गोली मारकर हत्या कर दी। घटना कोंच थाना क्षेत्र के कमल बिगहा गांव की है। इस घटना के बाद हथियार बंद दस्ते ने माओवादी जिंदाबाद, इंकलाब जिंदाबाद का नारा लगाया और आराम से निकल गए। स्थानीय लोगों ने बताया कि जितेन्द्र यादव उर्फ हीरा यादव अपने दलान में सोए हुए थे। हालांकि पुलिस इस घटना के नक्सली वारदात होने से इनकार कर रही है। मृत हीरा यादव का नक्सलियों से संबंध रहा है। एनआईए ने उसके घर की तलाशी ली थी।

जानकारी के मुताबिक हीरा यादव अपने दालन पर सोया हुआ था जिसका गेट खुला हुआ था। हथियार बंद दस्ते ने उसकी कनपटी और पेट में दो गोली दी। इस बीच पड़ोस में रही एक महिला की नजर हथियारबंद लोगों पर पड़ गयी। उसने जैसे ही चोर-चोर किया, छह से आठ की संख्या में हथियार से लैस रहे हमलवार इंकलाब जिंदाबाद नारे लगाए और हवाई फायरिंग कर दशहत मचा दिया। घटना को अंजाम देने के बाद हमलवार ने गांव से उत्तर की दिशा में आराम से निकल गये। इसके बाद ग्रामीण जबतक स्थल पर पहुंचे तो खून से लथपथ हीरा की मौत हो चुकी थी।

हीरा का नक्सली से रह चुका था नाता 

मारे गए हीरा यादव का नक्सलियों से नाता रहा चुका था। वह हार्डकोर कमिटी के सदस्य भी रह चुका था। मारे गये जोनल कमांडर चंदन यादव का एक वक्त वह दाहिना हाथ माना जाता था। अभी वह सामान्य जीवन यापन कर रहा था। इसकी एक बेटी व तीन बेटा है। वह घर का एकमात्र कमाने वाला सदस्य था। इस घटना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

एनआईए की टीम ने भी ली थी हीरा के घर की तलाशी 

डेढ़ वर्ष पूर्व एनआईए की टीम ने हीरा यादव का नक्सलियों से सांठगांठ के आरोप में इसके घर छापा मार चुकी है। लगभग चार घंटे तक इसके घर में रूककर गहन तलाशी ली थी। एनआईए की टीम ने कुछ दस्तावेज लेकर अपने साथ गये थे। हालांकि, टीम को हीरा यादव घर पर नहीं मिले थे।

यह नक्सली घटना नहीं 

धनंजय कुमार सिंह,थानाध्यक्ष कोंच ने दावा किया है कि यह नक्सली घटना नहीं है। लेकिन पूर्व में नक्सली संगठन से जुड़े लोग द्वारा भूमि विवाद में हत्या की बात सामने आ रही है। अज्ञात लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की गयी है। ऐसे अन्य बिंदुओं पर जांच की जा रही है।

क्या कहते हैं वरीय अधिकारी? 

इस हत्या की घटना की विभिन्न बिंदुओं पर अनुसंधान शुरू कर दिया गया है। जिस कमरे में हत्या हुयी है,उसे कमरे को अभी बंद कर दिया गया है। शनिवार को फॉरेसिक टीम पहुंचकर वैज्ञानिक तरीके से घटनास्थल की जांच करेगी। जांच के बाद ही हत्या का कारण स्पष्ट हो पाएगा। -सुशांत कुमार चंचल,एसडीपीओ-टिकारी