ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारनवादा: सनकी पति ने खटिया से बांधकर पत्नी का गला रेता, दो मासूम बेटियों को दी दर्दनाक मौत, पुलिस से बचने को गांव में छुपा आरोपी

नवादा: सनकी पति ने खटिया से बांधकर पत्नी का गला रेता, दो मासूम बेटियों को दी दर्दनाक मौत, पुलिस से बचने को गांव में छुपा आरोपी

नवादा में एक सनकी पति ने पहले खटिया से बांधकर खाना देने आई पत्नी की गला रेतकर हत्या कर दी। इसके बाद दो बच्चियों को भी मौत के घाट उतार दिया। फिर पुलिस से बचने के लिए गांव में छुप गया।

नवादा: सनकी पति ने खटिया से बांधकर पत्नी का गला रेता, दो मासूम बेटियों को दी दर्दनाक मौत, पुलिस से बचने को गांव में छुपा आरोपी
हिप्र संसू,नवादा गोविंदपुरSat, 02 Apr 2022 02:20 PM
ऐप पर पढ़ें

नवादा के गोविंदपुर थाना के माधोपुर गांव में तिहरे हत्याकांड से सनसनी फैल गई। गांव में सन्नाटा पसर गया। मृतक के परिजनों व पड़ोस में रोने चिल्लाने की आवाजें आ रही थी। वहीं ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना था। बताया जाता है कि आरोपित दीपक चौधरी अपनी पत्नी व बच्चों के साथ माधोपुर गांव में रहता था। परंतु दिन में वह अपने मवेशियों के लिए गांव से दूर जंगल किनारे बनायी गयी झोपड़ीनुमा घर में रहता था। 

वहीं आसपास खेती व मजदूरी का भी काम करता था। घटना के वक्त उसकी पत्नी सावित्री देवी अपनी दोनों बच्चियों के संग उसका खाना लेकर उसी झोपड़ीनुमा घर के पास गयी थी। इसी दौरान उसने पत्नी को झोपड़ी के आगे पड़े खटिया में बांध दिया और पसुली से गला रेत दिया, जिससे उसकी मौत हो गयी। इसके बाद उसने दोनों बच्चियों की भी गला रेत कर हत्या कर दी। पुलिस के मुताबिक उसे ग्रामीणों द्वारा घटना की सूचना मिली। 

सूचना पर गोविंदपुर थानाध्यक्ष नरेंद्र कुमार के नेतृत्व में पुलिस ने गांव पहुंचकर उसे गिरफ्तार कर लिया। वह पुलिस से बचने के लिए गांव में ही छुप गया था। वहीं घटनास्थल से तीनों के शव बरामद किये गये। ग्रामीणों के मुताबिक हत्यारा पूर्व से ही सनकी किस्म का युवक था। ताजा जानकारी मिलने तक इस मामले में प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा सकी थी। मृतका के मायके वाले घटना की सूचना पर थाना पहुंच गये थे। 

परिजनों ने कहा सभी ने मिलकर मार डाला बेटी व नतिनी को

मृतका के मायके वालों ने कहा कि उसकी बेटी व दोनों नतिनी को पति समेत उसके घर वालों ने मिलकर मार डाला। पकरीबरावां थाना क्षेत्र के केशोपुर गांव से शुक्रवार की शाम गोविंदपुर थाना पहुंची मृतका की मां मीना देवी ने कहा कि उसकी बेटी से फोन पर सुबह उसकी बातचीत हुई थी। उसने फोन पर कहा था कि घर वाले मिलकर उसके साथ एक कमरे में बंद कर मारपीट कर रहे हैं। इसके बाद उसने फोन काट दिया। वहीं मृतका के पिता महेश्वर चौधरी ने कहा कि उनलोगों को शाम में गांव के एक व्यक्ति ने फोन कर बताया कि उसकी बेटी की हत्या कर दी गयी है। मृतका के भाई ने कहा कि उसका बहनोई सनकी नहीं था। वह बिल्कुल ठीक था। उसने परिवार वालों के साथ मिलकर उसकी बहन की सोची समझी साजिश के तहत हत्या कर दी।

पांच वर्ष पूर्व हुई थी शादी

मायके वालों के मुताबिक सावित्री की शादी करीब पांच वर्ष पूर्व माधोपुर गांव के श्रवण चौधरी के बेटे दीपक चौधरी से हुई थी। शादी के बाद उसकी दो बेटियां हुई। सब कुछ ठीक चल रहा था। परंतु पता नहीं पिछले कुछ दिनों से उसके घर पर आपस में क्यों झगड़ा चल रहा था। पिता के मुताबिक पिछले कुछ दिनों से पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर विवाद चल रहा था।

चीत्कार से नम हुई सभी आंखें

मायके वालों के गोविंदपुर थाना पहुंचने पर उनके चीत्कार से सभी लोगों की आंखें नम हो गयी। वे लोग अपने बेटी के हत्यारों को माफ नहीं करने की बात कह रहे थे। आसपास के लोग परिजनों को हौसला दे रहे थे। परंतु उनकी चीखें नहीं थम रही थीं। 

ग्रामीणों ने कहा- सरेंडर किया

ग्रामीणों के मुताबिक हत्यारा दीपक हत्या करने के बाद खुद चलकर गोविंदपुर थाना आया और थाने में उसने सबके सामने सरेंडर कर दिया। उसने पुलिस के सामने पत्नी व दोनों बेटियों की हत्या की बात कबूल की। बताया जाता है कि उसकी निशानदेही पर पुलिस ने घटनास्थल पर पसुली बरामद किया। 

रजौली के एसडीपीओ संजय कुमार पांडेय ने कहा, 'माधोपुर गांव से 3-4 किमी दूर जंगल के किनारे एक युवक द्वारा पत्नी और दो छोटी बच्चियों की पसुली से गर्दन रेत कर हत्या कर दी गयी। वहां पर हत्यारे ने मवेशियों के रखने के लिए झोपड़ी बना रखी थी। पत्नी गांव से खाना लेकर बच्चियों के साथ वहां गयी। इसी दौरान उसने तीनों की बारी-बारी से गला रेत कर हत्या कर दी। हत्या के बाद वह गांव में छुपा हुआ था। उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वह मानसिक रूप से अस्वस्थ प्रतीत होता है। मर्डर विपन बरामद कर लिया गया है। पूछताछ के बाद घटना का कारण स्पष्ट हो सकेगा।'