DA Image
Monday, November 29, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारस्टूडेंट्स के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर, इन दिक्कतों पर ले सकते हैं सलाह 

स्टूडेंट्स के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर, इन दिक्कतों पर ले सकते हैं सलाह 

वरीय संवाददाता,पटनाSneha Baluni
Wed, 20 Oct 2021 12:59 PM
स्टूडेंट्स के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर, इन दिक्कतों पर ले सकते हैं सलाह 

निजी स्कूल में पढ़ रहीं छात्राएं भी अब अपनी शिकायत को राष्ट्रीय महिला आयोग के पास रख पायेंगी। साइबर क्राइम, शारीरिक शोषण से संबंधित किसी तरह की परेशानी को तुरंत राष्ट्रीय महिला आयोग के पास अपनी शिकायत दर्ज करवा पायेंगी। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की वेबसाइट से छात्र या छात्रा जब चाहें शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। इतना ही नहीं राष्ट्रीय महिला आयोग द्वारा टेली काउंसिलिंग भी की जाएगी। इसके लिए हेल्पलाइन नंबर 7827170170 भी जारी किया गया है। 

अगर किसी को इंमरजेंसी होगा तो 112 नंबर पर कॉल कर सकता है। सीबीएसई प्रशासन की मानें तो राष्ट्रीय महिला आयोग पर शिकायत करने के पहले विद्यार्थी का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होगा। इसमें नाम, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी के साथ अपनी बातें लिख कर देना होगा। एक बार रजिस्ट्रेशन होने के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग द्वारा खुद ही संपर्क किया जायेगा। 

टेली काउंसिलिंग के लिए बनी टीम 

छात्राओं को अपनी शिकायत के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म मिलेगा। इसके लिए पुलिस, अस्पताल, डिस्ट्रिक लीगल सर्विस अथॉरिटी, प्रोटेक्शन ऑफिसर, वन स्टॉप क्राइसिस सेंटर आदि से संपर्क किया गया है। इन एजेंसियों के माध्यम से किशोर और किशोरियों को तुरंत सुविधा दी जायेगी। बोर्ड द्वारा मानसिक स्वास्थ्य के लिए प्रशिक्षित काउंसलर रखा गया है।  

ऑनलाइन पढ़ाई से साइबर क्राइम में फंसीं छात्राएं 

सीबीएसई की मानें तो कोरोना संक्रमण के कारण ऑनलाइन पढ़ाई हो रही थी। ऐेसे में आए दिन छात्राएं साइबर क्राइम में फंस रही थीं। कई बार छात्राओं को साइबर क्राइम की जानकारी तक नहीं होती और वो फंस जाती हैं। कई बार तो छात्राओं ने ऑनलाइन कक्षा करना बंद कर दिया। 

इन दिक्कतों पर ले सकती हैं सलाह 

साइबर क्राइम, शारीरिक प्रताड़ना, एसिड एटैक, स्कूल में शारीरिक प्रताड़ना, छेड़छाड़, घरेलू हिंसा, पुलिस द्वारा बुरा व्यवहार करना, शादी की जबरदस्ती, मानसिक दबाव।

सीबीएसई के काउंसलर प्रमोद कुमार ने कहा, 'स्कूल स्तर पर आये दिन यौन शोषण आदि की घटनाएं होती रहती हैं, लेकिन छात्राओं को कई चीजों की जानकारी नहीं होती है। इससे वो कहीं पर भी शिकायत नहीं कर पाती हैं, लेकिन राष्ट्रीय महिला आयोग के माध्यम से वो कई चीजों को जान पायेंगी। यह एक अच्छी पहल होगी।'

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें