ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारवाह रे बिहार पुलिस... हत्या के मुख्य आरोपित का ही नाम FIR से हटा दिया, जनता दरबार में नीतीश से लगाई फरियाद

वाह रे बिहार पुलिस... हत्या के मुख्य आरोपित का ही नाम FIR से हटा दिया, जनता दरबार में नीतीश से लगाई फरियाद

सर, 2021 में मेरे पिता की हत्या कर दी गयी थी। एफआईआर भी दर्ज हुई, लेकिन पुलिस से मुख्य आरोपी का ही नाम एफआईआर से हटा दिया। यह शिकायत जमुई से आए व्यक्ति ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से की।

वाह रे बिहार पुलिस... हत्या के मुख्य आरोपित का ही नाम FIR से हटा दिया, जनता दरबार में नीतीश से लगाई फरियाद
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाMon, 03 Jul 2023 10:57 PM
ऐप पर पढ़ें

सर, 2021 में मेरे पिता की हत्या कर दी गयी थी। एफआईआर भी दर्ज हुई, लेकिन पुलिस से मुख्य आरोपी का ही नाम एफआईआर से हटा दिया। यह शिकायत जमुई से आए व्यक्ति ने मुख्यमंत्री से की। इसी तरह शिवहर से आए व्यक्ति ने शिकायत की कि उसके पुत्र को नशे में धुत ट्रैक्टर ड्राइवर ने कुचल कर मार डाला। पूर्वी चंपारण से आई महिला ने कहा कि पति की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई, लेकिन पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है।

वहीं, लखीसराय से आई महिला ने भाई की हत्या का जबकि सीतामढ़ी से आए व्यक्ति ने भाई के अपहरण और जीजा की हत्या की शिकायत की। बेगूसराय से आई महिला ने अपने पति की हत्या की शिकायत की। पूर्वी चंपारण के व्यक्ति ने कहा कि उसके पुत्र की निर्मम हत्या कर दी गयी, लेकिन आरोपित अब तक पुलिस की पकड़ से बाहर है। गोपालगंज जिला से आए एक युवक ने मुख्यमंत्री से फरियाद करते हुए कहा कि मेरी बहन की दहेज के कारण हत्या कर दी गई है। थाने में शिकायत करने पर भी अब तक किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई है।

इस तरह की शिकायतें सोमवार को सोमवार को 4, देशरत्न मार्ग स्थित सीएम सचिवालय परिसर में आयोजित जनता के ‘दरबार कार्यक्रम में मुख्यमंत्री’ में आईं। सीएम नीतीश कुमार ने जनता दरबार में दो घंटे से अधिक समय तक फरियादियों को सुना। 95 लोगों ने अपनी समस्याएं बताईं। सीएम ने मौके पर ही उन समस्याओं के निदान के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये।

कई विभागों से संबंधित शिकायतें सीएम ने सुनीं
सामान्य प्रशासन विभाग, गृह विभाग, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग, मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग, निगरानी विभाग, खान एवं भू-तत्व विभाग, निर्वाचन विभाग, मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग एवं संसदीय कार्य विभाग से संबंधित मामलों पर सुनवाई की।

जमीन से जुड़े मामले अधिक आए
जनता दरबार में जमीन विवाद से जुड़े मामले अधिक आए। इसके अलावा थानों के खिलाफ भी ढेर सारी शिकायतें आयीं। कई अवसरों पर मुख्यमंत्री ने नाराजगी भी जताई। घर और ज़मीन पर दबंगों द्वारा कब्जा की शिकायतें भी आईं।

नवादा की एक महिला ने देवर द्वारा किये गये हर्ष फायरिंग में पति को फंसाने का आरोप लगाया और कहा कि पति का इंजीनियर के रूप में चयन होने के बाद ऐसा किया गया है। समस्तीपुर से आए एक व्यक्ति ने अपनी पतोहू और पोते के गायब होने की शिकायत की। बेगूसराय के युवक ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाई कि दबंगो ने उसकी जमीन कब्जा ली है। प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। मधेपुरा जिला से आए एक फरियादी ने कहा कि उसकी जमीन को दलालों ने बेच दिया और उस पर अब अवैध तरीके से मकान का निर्माण कर लिया गया है।

पिताजी ने की दूसरी शादी, पुत्र व पहली पत्नी को घर से निकाला
अररिया से ही आए एक फरियादी ने मुख्यमंत्री से कहा कि उसके पिता ने दूसरी शादी कर ली है और उसे व उसकी मां को घर से बाहर कर दिया है। संपत्ति में से भी हिस्सा नहीं दे रहे हैं। पूर्णिया जिला से आयी एक महिला ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए कहा कि जाली कागजात बनाकर जमीन की बिक्री कर दी गई है।

अनुसूचित जाति की महिला की गुहार, मेरी जमीन को लिखवा ली
मुजफ्फरपुर जिले से आयी एक महिला ने कहा कि मैं अनुसूचित जाति से आती हूं मेरी जमीन लिखवा ली गई और अब पैसा मांगने पर मारपीट की जा रही है। इसकी सूचना थाने में दिए जाने के बाद भी किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें