ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारनाम महिला डॉक्टर का, फोटो पुरुष की; बिहार के स्वास्थ्य विभाग में चल रहा कामचोरी का बड़ा खेल

नाम महिला डॉक्टर का, फोटो पुरुष की; बिहार के स्वास्थ्य विभाग में चल रहा कामचोरी का बड़ा खेल

सीएचसी में एक महिला डॉक्टर के आगे पुरुष डॉक्टर की तस्वीर है जबकि ड्यूटी पर महिला डॉक्टर की लॉगिन है। यह पता नहीं चल रहा है कि कौन डॉक्टर ड्यूटी कर रहे हैं। मामला पकड़ में आने पर सीएस एक्शन में हैं।

नाम महिला डॉक्टर का, फोटो पुरुष की; बिहार के स्वास्थ्य विभाग में चल रहा कामचोरी का बड़ा खेल
Sudhir Kumarलाइव हिन्दुस्तान,मुजफ्फरपुरMon, 06 May 2024 09:58 AM
ऐप पर पढ़ें

मुजफ्फरपुर समेत उत्तर बिहार के कई जिलों में बच्चों की जानलेवा बीमारी एईएस ने दस्तक दे दी है। कई बच्चे बीमार होकर एसकेएमसीएच के पीकु वार्ड तक पहुंच चुके हैं। इस बीच एईएस के इलाज में डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। एईएस के इलाज में तैनात सभी डॉक्टरों को दर्पण एप पर हाजिरी बनानी है, लेकिन जांच में देखा गया है कि दर्पण एप पर लॉगिन के आगे नाम महिला डॉक्टर का है और वहां तस्वीर पुरुष डॉक्टर की है। सिविल सर्जन डॉ. अजय कुमार ने इस मामले की जांच कराने की बात कही है।

औराई प्रखंड से दर्पण एप में लगी हाजिरी में यह गड़बड़ी सामने आई है। सीएचसी में एक महिला डॉक्टर के आगे पुरुष डॉक्टर की तस्वीर है जबकि ड्यूटी पर महिला डॉक्टर की लॉगिन है। इससे पहले राज्य स्वास्थ्य विभाग ने भी जिलों को पत्र भेजकर कहा था कि एईएस वार्ड में डॉक्टर मास्क लगाकर हाजिरी लगा रहे हैं। इससे यह पता नहीं चल रहा है कि कौन डॉक्टर ड्यूटी कर रहे हैं। सीएस ने भी कहा कि मास्क लगाकर ड्यूटी करने की बात उनके संज्ञान में आयी है। इसपर सख्त कार्रवाई की जायेगी।

चल रहा बड़ा खेल

● दर्पण एप में हाजिरी बनाने में किया जा रहा खेल

● सभी डॉक्टर को ऑनलाइन बनानी है उपस्थिति

● औराई से दर्पण एप से हाजिरी बनाने मे सामने आई गड़बड़ी

● सिविल सर्जन ने कहा, मामले की कराई जा रही जांच

एईएस को लेकर सभी डॉक्टरों को सुबह चार बजे दर्पण एप पर अपनी उपस्थिति बनानी है और अपनी तस्वीर भी डालनी है। एईएस को लेकर डॉक्टरों की उपस्थिति की रिपोर्ट सीधे राज्य मुख्यालय को भेजी जाती है। गलत ड्यूटी के अलावा सिर्फ पांच मिनट में ही लॉगआउट होने का भी मामला सामने आया है। दर्पण एप पर डॉक्टर सुबह चार बजे लॉगिन कर रहे हैं और पांच मिनट बाद ही लॉगआउट कर दे रहे हैं। एईएस को लेकर डॉक्टरों को सुबह चार से छह बजे तक रहना है।