DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कंकाल पर कोहराम: मुजफ्फरपुर अस्पताल में नीतीश के दौरे के पहले आनन-फानन में जलाईं लाशें

muzaffarpur skmch hospital skeleton   pti 22 june  2019

मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल परिसर में शनिवार को जो नरमुंड मिले थे, उनके बारे में खुलासा हो गया है। असल में चार महीने से पड़ीं लावारिस डेढ़ दर्जन लाशें मुख्यमंत्री के आने के पहले एसकेएमसीएच में आनन-फानन में जलाईं गईं थीं। अब भी पोस्टमार्टम हाउस में 13 लाशें दो माह से अंत्येष्टि के इंतजार में हैं।

कंकाल पर कोहराम मचने के दूसरे दिन रविवार को भी इस प्रकरण को लेकर एसकेएमसीएच व प्रशासनिक महकमे हलचल तेज रही। विभागीय सूत्रों का मानना है कि जांच में एसकेएमएसीएच व अहियापुर थाने के कई अफसरों पर गाज गिर सकती है। एसएसपी मनोज कुमार ने कहा कि जांच के क्रम में  स्थानीय पुलिस के स्तर पर हुई चूक को भी रेखांकित किया जाएगा। दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

मुजफ्फरपुर: एसकेएमसीएच अस्पताल में चार और बच्चों की मौत, छह भर्ती

दाह स्थल की निगरानी के लिए एसएसपी के निर्देश पर अहियापुर थानेदार ने दो पदाधिकारी व होमगार्ड व चौकीदार को प्रतिनियुक्त किया है। जांच के बाद ही यह स्पष्ट हो सकेगा कि किस परिस्थिति में पोस्टमार्टम हाउस में पड़ीं लावारिस लाशों को अमानवीय तरीके से एसकेएमसीएच परिसर में ही जला दिया जाता है।

इधर, एसकेएमसीएच के एफएमटी के प्रभारी डॉ विपिन कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद अज्ञात लाशों की जानकारी पुलिस को सौंप दी जाती है। दाह संस्कार करवाने का जिम्मा पुलिस का है। पुलिस अक्सर सामूहिक रूप से लाशों का संस्कार करवाती है। इसलिए कितनी लाशें जलाई गईं, यह जांच का विषय है।

वैशाली के गांव में विधायक को बंधक बनाया, चमकी बुखार से गई थी 7 बच्चों की जान 

आठ जून को लिखा था पत्र 
अहियापुर पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार आठ जून को एसकेएमसीएच के अधीक्षक ने पोस्टमार्टम हाउस में पड़ीं लावारिस लाशों को जलाने का प्रस्ताव अहियापुर थाने को भेजा था। इसके बाद अहियापुर पुलिस ने लाश जलाने के लिए अनुमानित राशि के आवंटन के लिए एसएसपी के माध्यम से डीएम को पत्र लिखा था। राशि 15 जून को अहियापुर पुलिस ने बैंक से प्राप्त की। इसके बाद 17 तारीख को लाशों का दाह संस्कार किया।

मुजफ्फरपुर में बच्चों के लिए बनेगा 100 बेड का अस्पताल, बिहार में चमकी बुखार के लिए तैनात रहेंगी केंद्रीय टीमें

श्मशान घाट पर ही होगा दाह संस्कार : एसएसपी
एसएसपी मनोज कुमार ने बताया कि एसकेएमसीएच परिसर में लावारिस लाशों के दाह संस्कार करने की चली आ रही परंपरा पर रोक लगा दी गई है। पूर्व से चिह्नित श्मशान घाट पर ही लाशों का अंतिम संस्कार किया जाएगा। पूरे मामले की उच्चस्तरीय जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई होगी।   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Muzaffarpur Skeleton SKMCH Hospital Probe Complete Before Nitish Kumar Visit Burn Dead Body in Campus