110 किमी की रफ्तार से मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी रेलखंड का हुआ ट्रायल, इस रूट पर जल्द चलेगी इलेक्ट्रिक इंजन

मुजफ्फरपुर। वरीय संवाददाता , Last Modified: Wed, Aug 05 2020. 17:41 IST
offline


मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी रेलखंड के रेल विद्युतिकरण कार्य का रेल संरक्षा आयुक्त(सीआरएस) आनंद मोहन चौधरी ने निरीक्षण किया। इस दौरान सीआरएस ने मुजफ्फरपुर व जुब्बा सहनी में बने पावर सब स्टेशन का निरीक्षण किया। समस्तीपुर मंडल ने सीतामढ़ी से मुजफ्फरपुर में किए गए विद्युतिकरण कार्य में कुछ सुधार करने का निर्देश दिया। इसके बाद इस रेलखंड पर विद्युत इंजन से ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जाएगा। अधिकारियों ने कहा कि इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनों का परिचालन होने से रेलवे को काफी बचत होगी।  फिलहाल डीजल इंजन से ट्रेन चलने के कारण इसमें काफी खर्च होता है।
मुजफ्फरपुर से सीतामढ़ी तक 65 किलोमीटर के रेल विद्युतिकरण का कार्य सीआरएस ने गहन निरीक्षण किया। 110 किमी की रफ्तार से विद्युत इंजन मुजफ्फरपुर से सीतामढी तक सफल ट्रायल हुआ। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार समस्तीपुर से दरभंगा व जयनगर तक विद्युतीकरण का सीआरएस निरीक्षण पहले ही हो चुका है। समस्तीपुर मंडल के दरभंगा से सीतामढ़ी व सीतामढ़ी से रक्सौल तक विधुतीकरण का कार्य प्रगति पर है।
मुजफ्फरपुर जंक्शन पर अधिकारी थे तैनात
सीआरएस निरीक्षण समस्तीपुर मंडल के मुजफ्फरपुर से सीतामढ़ी रेल रूट पर हुआ है। इस कारण यहां के अधिकारी तनाव मुक्त थे। लेकिन सीआरएस निरीक्षण को लेकर सभी अधिकारी जंक्शन पर मुस्तैज रहे। सीआरएस मुजफ्फरपुर जंक्शन से ही निरीक्षण वान से समस्तीपुर के अधिकारियों के साथ निरीक्षण के लिए सीतामढ़ी के लिए रवाना हुए।

 

हिन्दुस्तान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें