DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुजफ्फरपुर कांड: सीबीआई ने घटनास्थल का मुआयना किया, बंद कमरे खुलेंगे

CBI Team

सीबीआई की टीम ने पुलिस से यौन उत्पीड़न के केस का चार्ज लेने के बाद सोमवार की शाम बालिका गृह परिसर की जांच की। आठ सदस्यीय टीम ने करीब आधा घंटा तक परिसर में छानबीन की। प्रेस की ओर बनी सीढ़ी का मुआयना किया और इसके निर्माण के उद्देश्य पर आपत्ति जतायी। कुछ स्थानीय लोगों से भी बालिका गृह कांड के संबंध में जानकारी ली। टीम ने बालिका गृह परिसर के चप्पे-चप्पे की जांच-पड़ताल की।

शाम करीब चार बजे सीबीआई की टीम एसपी जेपी मिश्रा के नेतृत्व में साहू रोड स्थित बालिका गृह पहुंची। उनके साथ सीबीआई के सात अन्य अधिकारी थे। इसके अलावा पुलिस केस की आईओ महिला थाने की थानाध्यक्ष ज्योति कुमारी भी साथ में थीं। टीम ने सबसे पहले बालिका गृह परिसर का मुआयना किया। इसके बाद प्रेस की साइड से बनी सीढ़ी का निरीक्षण किया। सीढ़ी से चढ़कर टीम के सदस्य ऊपर भी गए। लेकिन, ऊपर के गेट में ताला बंद होने की वजह से टीम नीचे उतर गई।

मजिस्ट्रेट के आदेश पर खोला जाएगा सील कमरा
सीबीआई टीम जल्द घटनास्थल का दोबारा मुआयना करने जाएगी। सूत्रों के मुताबिक कोर्ट से इसकी इजाजत मांगी जाएगी की सील किए गए मकान के हिस्सों को खोला जाए। अदालत से आदेश मिलने के बाद सीबीआई की टीम फिर से आरोपित ब्रजेश ठाकुर के आवासीय परिसर में स्थित बालिका गृह का मुआयना करेगी। मुआयना के दौरान सीबीआई के फोरेंसिक विशेषज्ञों के भी रहने की संभावना है। उनकी मौजूदगी में साक्ष्य तलाशने की कोशिश होगी। 

बाबा आइए...क्या जानते हैं?
सीबीआई के डीएसपी रैंक के अधिकारी ने एक स्थानीय बुजुर्ग से भी पूछताछ की। टीम ने उन्हें पहले बालिका गृह परिसर में बुलाया और पूछा, बाबा आप बालिका गृह कांड में क्या-क्या जानते हैं ? इसपर बाबा ठिठक गए। अधिकारी को धीमी स्वर में कहा कि वह कुछ खास नहीं जानते। वह भीड़ को देखकर यहां आए हैं। इसके बाद अधिकारी ने उन्हें जाने दिया।

सर मैं तो यहां रहता नहीं हूं
बालिका गृह परिसर के बाहरी हिस्से की जांच करने के दौरान डीएसपी रैंक के अधिकारी ने एक स्थानीय युवक से भी पूछताछ की। उससे बालिका गृह कांड के संबंध में जानकारी लेनी चाही। इसपर युवक ने उन्हें बताया कि वह यहां रहता नहीं है। दो दिन पहले ही आया है। तब से पुलिस को आते-जाते देख रहा है।

पुलिस आईओ से भी ली जानकारी
बालिका गृह परिसर में ही सीबीआई के एसपी जेपी मिश्रा ने पुलिस की आईओ ज्योति कुमारी से जानकारी ली। लड़कियां किधर रहती थीं, परिसर के किस इलाके में शव होने की आशंका जतायी गई थी, किधर खुदाई की गई आदि बिंदुओं पर पूछताछ की। पुलिस की आईओ ने एसपी के करीब आधा दर्जन सवालों के जवाब दिए। इसके बाद टीम मौके से निकल गई।

रविवार को लौट गई थी टीम
रविवार की शाम करीब लगभग चार बजे सीबीआई की एक टीम बालिका गृह पहुंची थी। मगर बाहर से ताला बंद होने के कारण अंदर नहीं जा सकी। टीम के अधिकारी दस से पंद्रह मिनट तक वहां रुके। बाहर से ही बालिका गृह के भवन का जायजा लिया था। ताला नहीं खुलने होने की वजह से वे वापस लौट आए। 

सीबीआई एसपी जेपी मिश्रा ने बताया कि सीबीआई ने केस दर्ज कर लिया है। जांच प्रक्रिया शुरू है। इसके तहत टीम जांच-पड़ताल में जुटी है। जांच पूरी होने के बाद निष्कर्ष निकलेगा। इसके आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Muzaffarpur Sexual Harassment case CBI team searches in girls shelter home