DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  मुजफ्फरपुर: दोबारा बहाल 780 स्वास्थ्यकर्मियों को डीएम ने हटाया, सिविल सर्जन से मांगा स्पष्टीकरण, जानें पूरा मामला
बिहार

मुजफ्फरपुर: दोबारा बहाल 780 स्वास्थ्यकर्मियों को डीएम ने हटाया, सिविल सर्जन से मांगा स्पष्टीकरण, जानें पूरा मामला

मुजफ्फरपुर हिन्दुस्तान टीमPublished By: Malay Ojha
Sun, 20 Jun 2021 02:40 PM
मुजफ्फरपुर: दोबारा बहाल 780 स्वास्थ्यकर्मियों को डीएम ने हटाया, सिविल सर्जन से मांगा स्पष्टीकरण, जानें पूरा मामला

स्वास्थ्य विभाग में मुजफ्फरपुर सिविल सर्जन द्वारा पुनर्बहाल स्वास्थ्यकर्मियों को 24 घंटे के अंदर फिर से चयनमुक्त कर दिया गया है। शुक्रवार को सिविल सर्जन ने 780 कर्मियों की पुनर्बहाली का आदेश दिया था, जिसे मुजफ्फरपुर डीएम प्रणव कुमार ने शनिवार को रद्द कर दिया।  

डीएम ने सिविल सर्जन से स्पष्टीकरण मांगा है। वहीं, डीडीसी एसके झा की जांच रिपोर्ट में दोषी बताए गए कर्मियों पर कार्रवाई का आदेश दिया है। सीएस डॉ एसकेचौधरी ने बताया कि बहाली को फिर से रद्द करने का यह निर्णय सरकार का है। आदेश का अनुपालन किया जाएगा।  

पुनर्बहाली का आदेश रद्द करते हुए डीएम ने कहा है कि विभाग ने कोविड से लड़ाई के लिए आउटसोर्सिंग से बहाली के आदेश दिया था। बहाली में धांधली की शिकायत पर गठित जांच कमिटी की रिपोर्ट के आधार पर बहाली रद्द की गई थी। फिर बिना अनुमति सभी स्वास्थ्य कर्मियों की पुनर्बहाली का आदेश कैसे जारी किया गया। 

यह है स्वास्थ्यकर्मियों की बहाली का मामला 
मुजफ्फरपुर सिविल सर्जन कार्यालय ने 7 मई को नोटिस अपनी दीवार पर चिपकाते हुए डॉक्टर, नर्स, डेटा ऑपरेटर, टेक्निशन के पद पर बहाली निकाली थी और बिना काउंर्सिंलग कराए विभिन्न पदों पर 780 स्वास्थ्यकर्मियों को बहाल कर लिया गया।   डीडीसी की रिपोर्ट में धांधली की पुष्टि होने के बाद डीएम के आदेश पर गुरुवार को सिविल सर्जन ने बहाली रद्द कर दी। शुक्रवार को उन्होंने सभी की सेवा फिर बहाल कर दी। इसके बाद शनिवार को डीएम ने पुनर्बहाली के आदेश को रद्द कर दिया।

संबंधित खबरें