ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारपटना में मामूली बात को लेकर मर्डर, पैर पर साइकिल चढ़ा तो युवक की कर दी हत्या; नाबालिग समेत 3 अरेस्ट

पटना में मामूली बात को लेकर मर्डर, पैर पर साइकिल चढ़ा तो युवक की कर दी हत्या; नाबालिग समेत 3 अरेस्ट

कुछ दिन पहले हुई युवक की हत्या के मामले में पुलिस ने नाबालिग समेत 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस संबंध में पुलिस ने बताया कि पैर पर साइकिल चढ़ जाने के बाद युवक हत्या कर दी गई थी। 

पटना में मामूली बात को लेकर मर्डर, पैर पर साइकिल चढ़ा तो युवक की कर दी हत्या; नाबालिग समेत 3 अरेस्ट
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाMon, 25 Sep 2023 04:33 PM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी पटना के बुद्धा कॉलोनी के श्रीकृष्ण नगर इलाके में चाकू से गोदकर राजन कुमार (22) की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। उसके दोस्तों ने ही पैर पर साइकिल चढ़ जाने की मामूली बात को लेकर घटना को अंजाम दिया था। इस मामले में पुलिस ने एक नाबालिग सहित तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। बालिग आरोपितों की पहचान बुद्धा कॉलोनी के दक्षिणी मंदिरी के रहने वाले अजय कुमार और दुजरा चौक निवासी विक्की कुमार के रूप में हुई है। घटना के दो दिन पहले भी इस बात को लेकर आरोपितों की युवक से झड़प हुई थी। 

एसपी मध्य वैभव शर्मा ने बताया कि बुद्धा कॉलोनी के श्रीकृष्ण नगर रोड नंबर-21 में शनिवार की सुबह कुछ युवकों ने सरेआम चाकू से राजन कुमार को गोद दिया था। इसकी वजह से उसकी मौत हो गई थी। मूल रूप से मधुबनी निवासी राजन कुमार चीना कोठी इलाके में अपनी नानी के घर पर रहता था। उसकी मां वार्ड में सफाई कर्मी का काम करती हैं। मां के बयान पर ही पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। उधर इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज से हत्या में शामिल आरोपितों की पहचान की गई थी। 

पुलिस की टीम ने 36 घंटे में हत्यारोपितों को धर दबोचा। राजन कुमार और सभी आरोपित एक एक दूसरे के जान-पहचान के है। उन्होंने बताया कि 21 सितंबर को राजन की साइकिल का टायर आरोपित अजय कुमार के पैर पर चढ़ गया था। इस बात पर उसी दिन शाम को अजय और उसके साथियों की राजन कुमार के साथ कहासुनी और झड़प हुई थी। बाद में राजन वहां से चला गया था। घटना वाले दिन आरोपित बदला लेने की नीयत से पहले से चाकू लेकर युवक का इंतजार कर थे। इसी बीच जैसे ही राजन घटनास्थल पर गया। आरोपितों ने उसपर चाकू से ताबड़तोड़ कई वार किए थे और बाद में वे फरार हो गए थे। सभी आरोपित बेरोजगार हैं और उनका कोई पुराना आपराधिक रिकार्ड नहीं है।