Most Poor family children die from AES in Muzaffarpur of Bihar - खुलासा: एईएस से मरने वाले अधिकतर बच्चे गरीब परिवार के DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खुलासा: एईएस से मरने वाले अधिकतर बच्चे गरीब परिवार के

मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार (एईएस) से मरने वाले बच्चों में अधिकतर गरीब परिवार के हैं। कच्चे मकानों में रहते हैं। मरने वाले बच्चों के परिवार के हुए सर्वे की प्रारंभिक रिपोर्ट में यह बताया गया है। मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में बुधवार को हुई बैठक में इस संबंध में चर्चा हुई।

बैठक में निर्णय हुआ कि मुजफ्फरपुर के पांच प्रखंडों मीनापुर, कांटी, बोचहा, मुशहरी और पारू में वृहद सर्वे सोमवार से शुरू होगा। इस दौरान घर-घर जाकर चमकी बुखार से पीड़ित बच्चों के परिवार की आर्थिक और सामाजिक स्तर का गहन अध्ययन किया जाएगा। वृहद सर्वे रिपोर्ट आने के बाद पीड़ित बच्चों के परिवार की आर्थिक और सामाजिक स्तर को कैसे बेहतर किया जा सकता है, इस पर काम किया जाएगा। 

प्रारंभिक रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि जो बच्चे मरे हैं, उनमें करीब 30 प्रतिशत के परिवार के पास राशन कार्ड नहीं है। बैठक में स्वास्थ्य, ग्रामीण विकास, समाज कल्याण और लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के आलाधिकारी उपस्थित थे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Most Poor family children die from AES in Muzaffarpur of Bihar