DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › मुजफ्फरपुर: एक हजार से ज्‍यादा स्कूलों पर लटक रही बंदी की तलवार, जानिए वजह
बिहार

मुजफ्फरपुर: एक हजार से ज्‍यादा स्कूलों पर लटक रही बंदी की तलवार, जानिए वजह

वरीय संवाददाता ,मुजफ्फरपुरPublished By: Ajay Singh
Thu, 29 Jul 2021 08:03 AM
मुजफ्फरपुर: एक हजार से ज्‍यादा स्कूलों पर लटक रही बंदी की तलवार, जानिए वजह

मुजफ्फरपुर के 1065 प्राइवेट स्कूल बंद हो सकते हैं। बिना शिक्षा विभाग से रजिस्ट्रेशन लिए ये स्कूल चल रहे हैं। सरकार के बिना स्वीकृति के 8वीं तक के स्कूलों को नहीं चलाने के आदेश के बाद ये स्कूल अब कार्रवाई के दायरे में है।  

8वीं तक के जिले में 1200 प्राइवेट स्कूल चल रहे हैं। जिले में महज इसमें 135 स्कूल का ही बुधवार तक हो रजिस्ट्रेशन हो पाया है यानि 1200 में महज 135 को ही स्वीकृति मिली हुई है। यही नहीं स्वीकृति लेने की बदली प्रक्रिया में जांच के दायरे में इनमें 90 फीसदी स्कूल मापदंड पूरा नहीं  कर पा रहे हैं। सरकार ने प्राइवेट स्कूलों के बिना स्वीकृति के चलने पर रोक लगा दी है और स्कूलों को 30 सितम्बर तक स्वीकृति लेने संबंधित शर्त पूरा करने का आदेश दिया है। पहले जिला स्तर पर शिक्षा विभाग के माध्यम से यह स्वीकृति मिलती थी मगर अब बदली प्रक्रिया में इसे ऑनलाइन कर दिया गया है। हालांकि ऑनलाइन प्रक्रिया के बाद भी जिला स्तर पर शिक्षा विभाग के अधिकारियों की कमेटी द्वारा ही इसकी जांच कराई जानी है। 

फायर बिग्रेड, भवन निर्माण समेत कई बिन्दूओं पर स्कूल को सौंपने हैं कागजात, मानक के अनुरूप नहीं चल रहे स्कूल डीईओ अब्दुस सलाम अंसारी ने कहा कि ऑनलाइन आवेदन और स्वीकृति लेने को कई कागजात देने हैं। इन मानक को पूरा करने पर ही स्वीकृति मिलेगी। जिले में अधिकांश स्कूल इस मानक को पूरा नहीं कर रहे हैं। पिछले दो महीने जांच में 100 से अधिक स्कूल के आवेदन रद्द किए गए हैं। कई स्कूल दो कमरे तो कई गोशाला में चलते हुए मिले। 

संबंधित खबरें