ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारमोदी हैं तो मुमकिन है, चंद्रयान पर झंडा तो पाताल में फंसे मजदूरों को निकाल सकते हैं: शाहनवाज हुसैन

मोदी हैं तो मुमकिन है, चंद्रयान पर झंडा तो पाताल में फंसे मजदूरों को निकाल सकते हैं: शाहनवाज हुसैन

शाहनवाज हुसैन ने दावा करते हुए कहा कि देश में मोदी मैजिक चल रहा है। सभी मिलकर भी फेल नहीं कर सकते। मोदी ही हैं जो चन्द्रयान पर भी झंडा फहरा सकते हैं और पाताल में फंसे मजदूरों को निकाल सकते हैं।

मोदी हैं तो मुमकिन है, चंद्रयान पर झंडा तो पाताल में फंसे मजदूरों को निकाल सकते हैं: शाहनवाज हुसैन
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,जहानाबादThu, 30 Nov 2023 09:57 PM
ऐप पर पढ़ें

पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं विधान परिषद सदस्य सैयद शाहनवाज हुसैन ने दावा करते हुए कहा कि देश में मोदी मैजिक चल रहा है। सभी मिलकर भी फेल नहीं कर सकते। मोदी ही हैं जो चन्द्रयान पर भी झंडा फहरा सकते हैं और पाताल में फंसे मजदूरों को निकाल सकते हैं। जहानाबाद में गुरुवार को स्थानीय परिसदन में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के दौरान शाहनवाज हुसैन ने ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि बिहार में सरकार पटरी से उतर चुकी है। मुख्यमंत्री दबाव में हैं, जिसके कारण बिहार में विकास नहीं के बराबर है। 

उन्होंने कहा कि हम जब मंत्री थे तो उद्योग के क्षेत्र में निवेश का जो माहौल बनाया था, अब वह फाइल धूल फूंक रही है। वहीं सरकार के लोग अगड़ा- पिछड़ा करके अपनी-अपनी नाकामी छुपाने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि आज सरकार एक खास समीकरण का हवाला देती है। लेकिन अल्पसंख्यक समाज भी ठगे महसूस कर रहे हैं। मुस्लिम मंत्री का जनता नाम तक नहीं जानती है। सभी जगह अफसरशाही एवं गुंडागर्दी का राज हो चुका है। 

स्कूलों में छुट्टी के लिए जारी नया कलेंडर पर शहनावाज हुसैन ने कहा कि शिक्षा को भी हिंदू- मुस्लिम कर दिया गया है। अलग-अलग कलैंडर निकाल रहे हैं। हिन्दू के लिए अलग और मुस्लिम के लिए अलग, बिहार में यह क्या हो रहा है। बिहार सरकार यहां के लोगों को टुकड़ों में बांटना चाहती है। हम इसको बांटने नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि बिहार में पढ़ाई पर कम जोर है, तुगलकी फरमान अधिक जारी किया जा रहा है, इससे कहीं बच्चों का भविष्य सुधरेगा। हम भी चाहते हैं कि बच्चे पढ़े। शिक्षक स्कूल आएं। लेकिन ऐसा लग रहा है जितने भी आदेश है सभी शिक्षक के खिलाफ हैं। शिक्षकों को बंधुआ मजदूर समझा जा रहा है। 

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि क्लास में बच्चों के लिए बेंच नहीं है। बच्चे बोरा पर बैठ रहे हैं। लेकिन बच्चों के लिए क्लास रूम, ब्लैकबोर्ड और शिक्षक की व्यवस्था करने के बजाए तुगलकी फरमान जारी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के सर्व शिक्षा अभियान के पैसा से साइकिल और ड्रेस बांटकर बिहार सरकार पीठ थपथपा रही है।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें