ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारनाबालिग का अपहरण कर 27 दिन तक गैंगरेप, भागकर पीड़िता ने सुनाई हैरान कर देने वाली आपबीती

नाबालिग का अपहरण कर 27 दिन तक गैंगरेप, भागकर पीड़िता ने सुनाई हैरान कर देने वाली आपबीती

मुंगेर में नाबालिग लड़की का अपहरण कर 27 दिनों तक उसके प्रेमी ने दोस्तों के साथ गैंगरेप किया। आरोपियों की कैद से भाग कर पीड़िता ने पुलिस को आपबीती बताई। आरोपियों की तलाश में पुलिस जुट गई है।

नाबालिग का अपहरण कर 27 दिन तक गैंगरेप, भागकर पीड़िता ने सुनाई हैरान कर देने वाली आपबीती
Sandeepअविनाश कुमार,पटनाSat, 24 Feb 2024 06:59 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के मुंगेर जिले से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जहां नाबालिग लड़की को अगवा कर 27 दिनों तक गैंगरेप को अंजाम दिया। किसी तरह आरोपियों की कैद से भाग कर पीड़िता ने आपबीती बताई। पुलिस ने बताया कि नाबालिग का उसके प्रेमी और उसके पांच दोस्तों ने कथित तौर पर अपहरण कर लिया। और फिर बंधकर बनाकर 27 दिनों तक उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया।

यह घटना तब सामने आई जब लगभग 17 साल की नाबालिग कैद से भाग निकली। और फिर बेगूसराय स्टेशन पहुंची। उसके बाद डायल 112 को सूचना दी। पुलिस ने उसे तुरंत इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया। महिला थाने की प्रभारी शिल्पी कुमारी अस्पताल पहुंचीं और सीआरपीसी की धारा 161 के तहत उनका बयान दर्ज किया।

बेगुसराय के भगवानपुर थाना क्षेत्र की रहने वाली पीड़िता अपनी दादी के साथ रहती है। जबकि उसके माता-पिता अलग हो गए हैं और वो खगड़िया और पटना में रह रहे हैं। अपने बयान में, पीड़िता ने खुलासा किया कि उसका गांव के ही एक व्यक्ति सुभाष कुमार के साथ अफेयर था।

27 जनवरी को शादी करने का वादा करके उसे मुंगेर जिले में अज्ञात स्थान पर ले गया और एक घर में कैद कर दिया। सुभाष और उसके दोस्तों ने उसे नशीला पदार्थ खिलाकर बेहोश कर दिया, जहां सभी आरोपियों ने उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया।

23 फरवरी को पीड़िता आपोरियों की कैद से भागने में सफल रही और बेगुसराय रेलवे स्टेशन पहुंची। महिला ने सुभाष सहित छह लोगों के खिलाफ अपहरण और सामूहिक बलात्कार का आरोप लगाया। भगवानपुर पुलिस स्टेशन के SHO शैलेन्द्र कुमार ने कहा कि प्रारंभिक जांच के बाद, हमने सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 376 डी, 366, 323 के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। आरोपियो की गिरफ्तारी के लिए कई टीमों को लगाया गया है। और मामले की जांच जारी है।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें