DA Image
30 मार्च, 2021|5:12|IST

अगली स्टोरी

मंत्री मुकेश सहनी थे बिजी तो सरकारी कार्यक्रम में भाई को भेज दिया, नीतीश कुमार बोले- मैं भी हैरान

                                2020

बिहार के पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री मुकेश सहनी के भाई का एक सरकारी कार्यक्रम में शामिल होने का मुद्दा दिन भर गरमाया रहा। विधानसभा में भी इस मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ। विपक्ष ने आरोप लगाया कि मंत्री की जगह पर सरकारी कार्यक्रम में उनके भाई शामिल हुए थे। राजद के विधायक भाई वीरेंद्र ने मंत्री की बर्खास्तगी की मांग तक कर डाली। हंगामा बढ़ता देख मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुद बयान दिया और कहा कि अगर ऐसा हुआ है तो आश्चर्यजनक है। अब इस पूरे प्रकरण पर मुकेश सहनी ने सफाई दी है। सहनी ने कहा कि मेरे भाई कार्यक्रम में विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के अध्यक्ष के तौर पर शामिल हुए थे। मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि आगे कभी ऐसा न हो।

दरअसल, शुक्रवार को विधानसभा में विपक्षी दल राजद के विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि हाजीपुर में एक सरकारी कार्यक्रम का उद्घाटन मंत्री मुकेश सहनी के बदले उनके भाई ने किया है। यह घोर आपत्तिजनक है। उन्होंने कहा कि ऐसे मंत्री को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए। इस मुद्दे को लेकर अन्य सदस्य भी सदन में हंगामा करने लगे। तब खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मोर्चा संभाला और कहा कि मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है लेकिन यदि ऐसा हुआ है तो यह आश्चर्यजनक है। हम मामले को देखेंगे।

विधानसभा में हंगामे के बाद इस मामले पर मुकेश सहनी के भाई संतोष कुमार सहनी ने पहले अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि वह (मुकेश सहनी) व्यस्त थे इसलिए मैं प्रतिनिधि के तौर पर वहां गया। मामले पर विवाद बढ़ता देख खुद मंत्री मुकेश सहनी भी सामने आए और सफाई पेश की। पटना में पत्रकारों से बात करते हुए सहनी ने कहा कि विधानसभा सत्र के कारण मैं कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सका। मेरे भाई पार्टी के अध्यक्ष के तौर पर वहां गए हुए थे। अपनी जगह पर उन्हें नहीं भेजा था।

मुकेश सहनी ने आगे कहा कि पार्टी अध्यक्ष होने के नाते मेरी अगुआई करने के लिए वहां पर उनका होना जरूरी है। मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि ऐसा आगे न हो।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:minister mukesh sahani give clarification after uproar over his brother attend government program in place of him nitish kumar