ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारगया के खनिज विकास पदाधिकारी पर गिरी गाज, मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने किया सस्पेंड; जानें वजह

गया के खनिज विकास पदाधिकारी पर गिरी गाज, मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने किया सस्पेंड; जानें वजह

विभाग द्वारा पत्र एवं स्मार पत्र के वाबजूद उनके द्वारा स्पष्टीकरण समर्पित नहीं किया गया। कर्तव्यहीनता के आरोप में विभागीय मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने उनपर एक्शन लेते हुए सस्पेंड कर दिया है।

गया के खनिज विकास पदाधिकारी पर गिरी गाज, मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने किया सस्पेंड;  जानें वजह
Sudhir Kumarहिन्दुस्तान,पटनाSat, 15 Jun 2024 06:32 AM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के खान एवं भूतत्व मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने नियमानुकूल कार्य नहीं करने, स्मार-पत्र के बावजूद स्पष्टीकरण नहीं देने पर गया जिला के खनिज विकास पदाधिकारी निधि भारती को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आदेश दिया। साथ ही विभागीय कार्रवाई करने को भी कहा। विजय कुमार सिन्हा नीतीश कुमार की सरकार में डिप्टी सीएम भी हैं। बिहार में खनन माफिया की सक्रियता से अवैध बालू खनन और कारबोर सरकार के सिरदर्द बना हुआ है। कई वरीय पदाधिकारियों पर पूर्व में गाज गिर चुकी है। फिर भी बालू के अवैध कारोबार पर सरकार कंट्रोल नहीं कर पा रही है।

मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि विभागीय कर्मियों की मनमानी, स्वेच्छाचारिता, अनुशासनहीनता और भ्रष्ट आचरण के कारण अवैध बालू खनन एवं परिवहन को बढ़ावा मिल रहा है। गया जिला के बंदोबस्त बालूघाट संख्या-39 (गया पुल 03) के मामले में निलंबित अधिकारी ने अनियमितता बरती थी। विभाग द्वारा पत्र एवं स्मार पत्र के वाबजूद उनके द्वारा स्पष्टीकरण समर्पित नहीं किया गया। विभाग के उच्चाधिकारी द्वारा उक्त बालूघाट एवं एक अन्य बालूघाट का निरीक्षण करने पर विभिन्न मानकों पर अनियमितता की रिपोर्ट की गयी थी। ऐसी घटनाएं राज्य में रिपिट हो रही हैं। इसी वजह से यह ऐक्शन लेना पड़ा है।

अब पीक आवर में बत्ती नहीं होगी गुल? नेपाल से 209 मेगावाट पनबिजली खरीदेगा बिहार; 3 साल का करार

मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि  राज्य में सुगमतापूर्ण एवं ईमानदारी से खनन कार्य के लिए बने नियम नहीं मानने वाले अफसरों पर कठोर कार्रवाई होगी। बंदोबस्तधारियों, परिवहन करने वाले एजेंसियों एवं विभागीय पदाधिकारियों, जिला समाहर्ता, एसपी, अनुमंडलाधिकारी सहित सभी थानाध्यक्षों का दायित्व है कि वे उक्त नियम का पालन कर पारदर्शिता और निष्पक्षता सुनिश्चित करें। सही लोगों को सहयोग और गलत लोगों को दंडित कर अवैध खनन एवं परिवहन को रोकना विभाग का लक्ष्य है। खनन विभाग अपने कार्यों में तत्परता से कर्तव्य का निर्वहन नहीं करता है तो कार्रवाई निश्चित है।