Many truths are hidden in IPS 10 year old letter about MLA anant singh revelation will shocked you - IPS की 10 साल पुरानी चिट्ठी में छिपा है 'अनंत सच', जानकर चौंक जाएंगे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

IPS की 10 साल पुरानी चिट्ठी में छिपा है 'अनंत सच', जानकर चौंक जाएंगे

विधायक अनंत सिंह के पैतृक घर से एके 47 और दो ग्रेनेड की बरामदगी के मामले में नया मोड़ आ गया है। 10 साल पुरानी एक चिट्ठी से पुलिस को यह पता चला है कि विधायक के पास से मशीन गन, एके 56 और एके 47 भी थी। वर्ष 2009 के पांच मार्च को तत्कालीन जमुई स्थित बीएमपी 11 के कमांडेंट व आईपीएस अधिकारी अमिताभ कुमार दास ने चुनाव आयोग को एक पत्र लिखा था। इसमें पूर्व आईपीएस अधिकारी ने लिखा था कि उन्हें सूचना मिली है कि अनंत सिंह के पास एके 56, मशीन गन और एके 47 जैसे अत्याधुनिक हथियार उपलब्ध हैं। इस चिट्ठी को आईपीएस अधिकारी ने चुनाव आयोग को दिया था। सूत्रों की मानें तो इसी चिट्ठी के आधार पर अन्य हथियारों की तलाश भी की जा रही है। पुलिस को शक है कि अब भी अनंत के पास एके 56 जैसे हथियार हो सकते हैं। 

चुनाव के दौरान हथियार मंगवाने की बात 

आईपीएस अधिकारी ने अपनी चिट्ठी में यह जिक्र किया है कि अत्याधुनिक हथियारों को विधायक ने लोकसभा चुनाव के दौरान इस्तेमाल करने के लिए मंगाया था। 

एक गुर्गा ग्रेनेड चलाने का रहा है आरोपित 

अनंत सिंह के एक गुर्गे पर कई वर्ष पूर्व एक शोरूम पर ग्रेनेड चलाने का आरोप लगा था। इस बार विधायक के पैतृक आवास से ग्रेनेड बरामद होने के बाद पुलिस उस पहलू पर भी छानबीन कर रही है। हालांकि जिस आरोपित की तलाश पुलिस को है वह फरार है। इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि विधायक के घर ग्रेनेड पहुंचाने में उस गुर्गे का भी कनेक्शन हो। 

अनंत सिंह का दूसरा वीडियो वायरल 

12 घंटे के भीतर अनंत सिंह का दूसरा वीडियो सोमवार की सुबह वायरल हुआ। इस वीडियो में वे अपने परिजनों के घर छापेमारी होने की बात कहते नजर आ रहे हैं। विधायक ने बाढ़ में हुए केस का जिक्र भी किया है। इसके बाद विधायक ने उन्हीं बातों को दोहराया, जिसे उन्होंने पहले दिन वीडियो जारी कर कहा था।

अनंत सिंह नाश्ता करने के लिए झारखंड के बरही में रुके थे

मोकामा विधायक अनंत सिंह की तलाश में पटना पुलिस की एसआईटी झारखंड में कैंप कर रही है। सूत्रों के मुताबिक, एसआईटी को खबर मिली थी कि पटना से भागने के दौरान अनंत सिंह झारखंड के बरही स्थित एक ढाबे पर रुके थे। बरही के बाद वे रामगढ़ में छिप गए हैं। इसके बाद एसआईटी ने सोमवार की अलसुबह वहां धावा बोला। हालांकि इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस के आधार पर काम कर रही पुलिस को वहां भी विधायक नहीं मिले। दरअसल, एसआईटी को खबर है कि अनंत सिंह ने झारखंड में पनाह ले रखी है। लिहाजा विशेष पुलिस टीम वहां अलग-अलग जगहों की रेकी कर रही है। उधर, सोमवार को अनंत सिंह के बहनोई के खुसरुपुर थाने के मालबिगहा स्थित घर पर छापा मारा। पुलिस यहां विधायक के गुर्गों के इकट्ठा होने की खबर थी। हालांकि वहां से भी कुछ खास हाथ नहीं लगा। इस कार्रवाई के बाद से ही विधायक के करीबी अलर्ट हैं। उनके संपर्क में रहने वाले बाढ़ के कई दबंगों ने इलाका छोड़ दिया है। वहीं, पुलिस बिना नंबर की गाड़ी की तलाश में है, जिससे अनंत सिंह भाग निकले हैं। इसके अलावा टीम बरही के उस ढाबे तक भी पहुंची, जहां विधायक रुके थे। 

विधायक के साथ घूम रहे हैं दो गुर्गे 

अनंत सिंह के साथ दो गुर्गे घूम रहे हैं। उन दोनों के नाम पुलिस को पता चल चुके हैं। सोमवार की शाम दोनों गुर्गों की पूरी जानकारी एसआईटी ने इकट्ठा कर ली है। हालांकि जिस समय विधायक फरार हुए, उसी समय से उनके दोनों करीबियों ने अपने मोबाइल बंद कर लिये। वे दूसरे राज्य के नंबर इस्तेमाल करने लगे हैं। 

सरकारी मोबाइल की हो रही जांच 

विधायक के सरकारी मोबाइल की पुलिस जांच कर रही है। मोबाइल में सेव नंबरों की पड़ताल की जा रही है। सूत्रों की मानें तो अनंत सिंह के सरकारी मोबाइल नंबर का पूरा खाका पुलिस निकाल रही है। इसके अलावा उनके दो निजी नंबर भी पुलिस के हाथ लगे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Many truths are hidden in IPS 10 year old letter about MLA anant singh revelation will shocked you