DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोतिहारी बस हादसा: प्रसाशन ने कहा मौके से कोई शव नहीं मिला, सभी यात्री सुरक्षित- VIDEO

बिहार: मोतिहारी में पुल से नीचे गिरते ही बस में लगी आग -VIDEO
बिहार: मोतिहारी में पुल से नीचे गिरते ही बस में लगी आग -VIDEO

मुजफ्फरपुर से दिल्ली जा रही एसी बस गुरुवार शाम पूर्वी चम्पारण के कोटवा के समीप पुल से नीचे गिर गई और उसमे भीषण आग लग गई। हादसा एनएच-28 पर बेलवा चौक समीप हुआ। प्रसाशन ने शुक्रवार को जानकारी दी कि मौके से एक भी शव नहीं मिला। यानी सभी यात्री सुरक्षित हैं। घटना में कई लोगों के घायल होने की भी खबर है। प्रशासन ने घटना जुड़ी सहायता व सूचना के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है।

बस का शीशा तोड़कर निकले लोगों के अनुसार हादसे के वक्त बस में 27 से 30 लोग सवार थे। इनमें से देर रात तक आठ के निकलने की सूचना मिली। बाकी बचे 20 लोगों के बारे में तरह-तरह की चर्चा है। दूसरी ओर प्रशासन ने एक भी मौत की पुष्टि नहीं की है।

मोतिहारी के डीएम रमण कुमार ने बताया कि अभी कोई शव नहीं मिला है। एसडीआरएफ व एनडीआरएफ के सहयोग से जली बस और एनएच किनारे के गड्ढे में तलाश की जा रही है। एफएसएल टीम को भी मौके पर बुलाया गया है।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बस चालक एक बाइक सवार को बचाने के चक्कर में नियंत्रण खो बैठा और बस पुल से नीचे जा गिरी। बस के गिरते ही उसमें आग लग गई और धू-धू कर जलने लगी। चारो ओर चीख-पुकार मच गई। तब तक बस के अंदर बैठे कुछ यात्री शीशा तोड़कर बाहर निकले। सूचना मिलते ही घटनास्थल पर डीएम रमण कुमार, एसपी उपेन्द्र शर्मा, डीआईजी ललन मोहन प्रसाद, विधायक सचिन्द्र प्रसाद सिंह पहुंच गए हैं।

हादसे की सूचना मिलते ही घटनास्थल पर तिरहुत कमिश्नर एचआर श्रीनिवास, आईजी सुनील कुमार सहित आला अफसर और भारी संख्या में पुलिस बल पहुंचा। इधर, मुजफ्फरपुर के बैरिया बस स्टैंड से मिली जानकारी के मुताबिक साहिल राज डेली सर्विस की बस गुरुवार दोपहर दो बजे यहां से चली। बस स्टैंड से निकलकर रास्ते में चालक ने डीजल भी डलवाया। पेट्रोल पंप के नोजल मैन के मुताबिक 48 सीट वाली बस में लगभग ढाई दर्जन लोग बैठे थे। हादसे में घायल एक यात्री अमित ने बताया कि बस चालक गाड़ी पलटने के बाद शीशा तोड़ कर बाहर निकला। उसके बाद उसका पता नहीं चला।अमित के अनुसार उनके पीछे एक महिला श्रुति भी बाहर निकलीं। एक अन्य घायल यात्री समस्तीपुर के संजीव कुमार (35) ने बताया कि बस स्टाफ की बात से लग रहा था कि कुछ सीटों की बुकिंग मुजफ्फरपुर से थी, वहीं कुछ लोग गोपालगंज से बस में बैठने वाले थे।

चकिया से गोपालगंज तक चार घंटे तक जाम
मोतिहारी। कोटवा में बस हादसे के बाद मची अफरातफरी से चकिया से लेकर गोपालगंज तक एनएच-28 पर जाम की स्थिति उत्पन्न हो गयी। सड़कों पर गाड़ियां फंसी रहीं। तिरहुत प्रमंडल के कमिश्नर अतुल कुमार व आईजी सुनील कुमार ने पहल करके रात 8 बजे जाम समाप्त कराकर पीपराकोठी-गोपालगंज एनएच पर वाहनों का परिचालन शुरू करवाया।

एक अन्य घायल यात्री समस्तीपुर के संजीव कुमार(35) ने बताया कि कुछ सीटों की बुकिंग मुजफ्फरपुर से थी, वहीं कुछ लोग गोपालगंज से बस में बैठने वाले थे। 
कोटवा हादसे में घायल:  

  • संजीव कुमार (35), पिता मुरली मनोहर, नयी कॉलोनी, समस्तीपुर।
  • श्रुति कुमारी (25), पिता पवन कुमार, दरभंगा
  • चींटू कुमार चौधरी (30), पिता स्व. दिनेश चौधरी पूसा बाजार समस्तीपुर
  • रिंकू कुमारी (25), पति विजय मिश्रा, मखाचक बेगूसराय
  • रिंकू कुमारी के देवर अमित कुमार (30), पिता विष्णु मिश्रा, मखाचक, बेगूसराय
  • राजदेव यादव (40), पिता रामखेर यादव, मुजफ्फरपुर
  • आदित्य श्रीवास्तव, वार्ड नंबर-11, सीतामढ़ी
  • विनोद कुमार, बेला, सीतामढ़ी

अगली स्लाइड में देखें पूरे हादसे का घटनाक्रम

मोतिहारी में पुल से नीचे गिरते ही बस में लगी आग
मोतिहारी में पुल से नीचे गिरते ही बस में लगी आग

बस हादसा घटनाक्रम
2:00 बजे: मुजफ्फरपुर के बैरिया स्थित स्टैंड से खुली थी बस
3:45 बजे: बंगरा व बेलवा चौक के बीच एनएच किनारे पलटी बस
3:50 बजे: घटना की जानकारी मिलने पर आसपास के ग्रामीण पहुंचे
4:30 बजे: मोतिहारी से डीएम व एसपी भी प्रशासनिक टीम संग पहुंचे
4:50 बजे: दमकल की पांच गाड़ियां मोतिहारी, चकिया व पकड़ीदलाय से पहुंची
6.00 बजे: क्रेन से गड्ढ़े में पलटी बस को सीधा करने का काम शुरू  
7:30 बजे: बस को सीधा कर सड़क पर लाया गया, शवों की तलाश शुरू

पल-पल की जानकारी दी जा रही है सरकार को: आयुक्त
आयुक्त तिरहुत प्रमंडल के आय़ुक्त एचएन श्रीनिवास ने बताया, पूर्वी चम्पारण के कोटवा में हुए सड़क हादसे में मरने वालों की संख्या अभी स्पष्ट नहीं हो पाई है। अब तक की छानबीन में पता चला है कि बस का परमिट मुजफ्फरपुर से जारी नहीं किया गया था। आशंका है कि टूरिस्ट परमिट पर बस चलाई जा रही थी। इस मामले की जांच की जा रही है।

वहीं मोतिहारी के एसपी उपेन्द्र कुमार ने बताया, बस दुर्घटना में अब तक कोई मौत नहीं हुई है। किसी प्रकार की आशंका को दूर करने के लिए एनडीआरएफ व एसटीआरएफ की टीम को भी बुलाया गया है। मुजफ्फरपुर से बस में 13 ऑनलाइन बुकिंग की गयी थी। 27 ऑनलाइन बुकिंग गोपालगंज से थी। घायलों को इलाज के लिए मोतिहारी भेजा गया है।

परिवहन विभाग की लापरवाही से हादसा   
बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के अध्यक्ष उदय शंकर सिंह के अनुसार कई महीने पहले दिल्ली जाने वाली बसों के लिए परिवहन विभाग ने अलग से कई मानक बनाए थे। परिवहन आयुक्त ने सभी जिलों के डीटीओ और परिवहन सचिव का आदेश जारी किया था। दिल्ली जाने वाली सभी बसों की हर रोज जांच होनी है। विभागीय मानकों को पूरा करने वालों को ही बस आगे बढ़ाने की इजाजत दी जानी थी। मगर मुजफ्फरपुर सहित किसी जिले में इसका पालन नहीं किया गया। इसी के कारण ऐसी घटनाएं हो रही हैं। ट्रांसपोर्टर निरंकुश होते जा रहे हैं। प्रशासन कार्रवाई नहीं कर रहा है। बिहार से हर रोज दिल्ली के लिए कम से कम चार से पांच सौ बसें रोज जा रही है। इसे सख्ती से पालन कराना होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:many people died and injured after bus falls down from bridge and catch fire in motihari bihar