DA Image
19 जनवरी, 2021|9:14|IST

अगली स्टोरी

बिहार चुनाव: बाल-बाल बचे मनोज तिवारी, ATC से सम्‍पर्क टूटने के बाद हेलीकॉप्‍टर की कराई गई इमरजेंसी लैंडिंग

बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए प्रत्याशियों के पक्ष में प्रचार के लिए जा रहे फिल्‍म स्टार और भाजपा सांसद मनोज तिवारी के हेलीकॉप्‍टर में अचानक से तकनीकी खराबी आ गई। एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) से VHF (वैरी हाई फ्रिक्‍वेंशी) सम्‍पर्क टूटने के चलते बेतिया जाने के बजाए पायलट को हेलीकॉप्‍टर लेकर वापस पटना आना पड़ा। लैंडिंग से पहले करीब 40 मिनट तक हेलीकॉप्‍टर को पटना के जयप्रकाश नारायण अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे के ऊपर हवा में मंडराते रहना पड़ा। 

इस दौरान पायलट ने एटीसी से सम्‍पर्क करने की कोशिश लगातार जारी रखा। अंतत: बड़ी मुश्‍किल से पटना एयरपोर्ट पर हेलीकाप्‍टर की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। हेलीकाप्‍टर को भाजपा ने किराए पर लिया है। इसमें मनोज तिवारी, दिल्‍ली भाजपा के एक कार्यकर्ता नीलकंठ बख्‍शी के साथ थे। दोनोंं बाल-बाल बच गए। मिली जानकारी के अनुसार चुनावी जनसभा के लिए पश्चिमी चम्‍पारण के बेतिया जा रहे भाजपा सांसद मनोज तिवारी के हेलीकॉप्‍टर ने पटना एयरपोर्ट से 10:10 बजे उड़ान भरी थी। लेकिन रास्‍ते में ही एयरपोर्ट में तकनीकी खराबी आ गई। रेडियो से उसका सम्‍पर्क टूट गया। पायलट ने पटना एयरपोर्ट के एटीसी से सम्‍पर्क की कोशिश की लेकिन वहां सम्‍पर्क नहीं पाया।

इसके बाद पायलट हेलीकॉप्‍टर लेकर वापस पटना एयरपोर्ट आ गया लेकिन एटीसी से सम्‍पर्क न हो पाने के कारण करीब 40 मिनट तक हवा में ही मंडराते रहना पड़ा। अंत में हेलीकॉप्‍टर की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई। बाद में पटना एयरपोर्ट, टर्मिनल बिल्डिंग के लाउंज से सोशल मीडिया में जारी एक वीडियो में नीलकंठ बख्‍शी ने बताया कि हेलीकाप्‍टर का सम्‍पर्क पूरी तरह से फेल हो गया था। 40 मिनट तक हम बिना किसी सम्‍पर्क के हवा में थे। एयरपोर्ट पर हमारे आसपास लाइट्स दिख रही थीं। हमारे हेलीकाप्‍टर की प्राथमिकता के आधार पर वहां इमरजेंसी लैडिंग कराई गई। इस दौरान पायलट ने स्थितियों को बहुत अच्‍छे ढंग से समझते हुए पटना एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग कराई। 

नीलकंठ ने बताया, 'बेतिया के लिए हमने पटना एयरपोर्ट से 10:10 बजे उड़ान भरी थी। करीब 40 मिनट की उड़ान के बाद हमें लगा कि हम बेतिया में उतर रहे हैं लेकिन जल्‍द ही एहसास हो गया कि हम पटना एयरपोर्ट के पास ही मंडरा रहे हैं। हेलीकाप्‍टर ऊपर-नीचे हो रहा था। तब हमें पता चल गया कि कुछ गड़बड़ है। हम सुरक्षित हैं। यह हमारे समर्थकों की शुभकामनाओं का असर है। उन्‍हें दिल से धन्‍यवाद देते हैं।' 

एयरपोर्ट अर्थारिटीज के एक सूत्र ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि हेलीकाप्‍टर का रेडियो कम्‍युनिकेशन पूरी तरह फेल हो गया था। इससे एटीसी (एयर ट्रैफिक कंट्रोल) से हेलीकाप्‍टर का वीएचएफ (वैरी हाई फ्रिक्‍वेंशी) सम्‍पर्क टूट गया। इसके बाद लाइट्स और सिग्‍नल लैम्‍प के जरिए हेलीकाप्‍टर से विजुअल कम्‍प्‍युनिकेशन (दृश्‍य सम्‍पर्क) कायम करके उसे पटना एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग के लिए दिशा निर्देश दिए गए।  

मनोज तिवारी बिहार चुनाव में भाजपा के 30 स्‍टॉर प्रचारकों में से हैं। वह तीन नवम्‍बर को प्रस्‍तावित दूसरे चरण के चुनाव के लिए लगातार जनसम्‍पर्क और जनसभाएं कर रहे हैं। भाजपा के स्‍टॉर प्रचारकों में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, स्‍मृति ईरानी, यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ,महराष्‍ट्र के पूर्व सीएम देवेन्‍द्र फणनवीस और बिहार के डिप्‍टी सीएम सुशील मोदी के भी नाम हैं। 

मनोज बोले-भारी बहुमत से बनेगी एनडीए की सरकार
उधर, गुरुवार सुबह पत्रकारों से बातचीत करते हुए मनोज तिवारी ने कहा कि पहले चरण के मतदान से साफ हो गया है कि भाजपा और एनडीए को प्रचंड बहुमत मिलने जा रहा है। चुनाव बाद भारी बहुमत से एनडीए की सरकार बनेगी। उन्‍होंने कहा कि बिहार में अब जनता पूछ रही है कि जंगलराज का युवराज कौन है। जनता इनका शासन देख चुकी है। बिहार में एनडीए के सामने महागठबंधन में माले, राजद व कांग्रेस जैसी पार्टी है। जिसका इतिहास लोगों को पता है। कांग्रेस घोटाला की जननी है। कांग्रेस के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र की सरकार ने बिहारी बेटा सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने के बदले हत्यारे के पक्ष में खड़ी दिखाई दी। बिहारं के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सुशांत को न्याय दिलाने के लिए बिहार में प्राथमिकी दर्ज कराई। महाराष्ट्र में बिहार पुलिस को जांच करने नहीं दिया और गिरफ्तार कर लिया। राजद के बारे में आप सभी जानते हैं कि राजद का शासन को याद कर आज भी सिहरन पैदा हो जाता है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:manoj tiwari helicopter technical problem returned to patna airport from the route of betia