ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहाररिहाई का रास्ता साफ, 9 महीने बाद आज जेल से रिहा हो सकते हैं मनीष कश्यप, पटना HC से मिली है जमानत

रिहाई का रास्ता साफ, 9 महीने बाद आज जेल से रिहा हो सकते हैं मनीष कश्यप, पटना HC से मिली है जमानत

तमिलनाडु में बिहारी मजदूरों की पिटाई का फेक वीडियो प्रसारित करने के आरोपी यूट्यूबर मनीष कश्यप आज जेल से बाहर आ सकते हैं। अब सभी मामलों में जमानत मिल गई है। पटना हाईकोर्ट से मनीष को जमानत मिली है।

रिहाई का रास्ता साफ, 9 महीने बाद आज जेल से रिहा हो सकते हैं मनीष कश्यप, पटना HC से मिली है जमानत
Sandeepलाइव हिन्दुस्तान,पटनाSat, 23 Dec 2023 08:45 AM
ऐप पर पढ़ें

तमिलनाडु में बिहार के लोगों के साथ हिंसा का फर्जी वीडियो प्रसारित करने के आरोपी यूट्यूबर मनीष कश्यप की आज जेल से रिहाई हो सकती है। पटना हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद अब उनकी रिहाई का रास्ता साफ हो गया है। मनीष कश्यप को बिहार की बेऊर जेल में रखा गया है। मनीष कश्यप पूरे 9 महीने बाद जेल से रिहा होंगे। आपको बता दें फर्जी वीडियो सोशल मीडिया पर फैलान के आरोप में तमिलनाडु पुलिस ने एफआईआर दर्ज की थी। और तमिलनाडु सरकार ने मनीष के खिलाफ एनएसए के तहत कार्रवाई की थी। जिसके बाद मनीष कश्यप पर शिकंजा कस गया था।

तमिलनाडु में 6 और बिहार में मनीष पर 7 मामले दर्ज हैं। तमिलनाडु सरकार के एनएसए के खिलाफ यूट्यूबर मनीष कश्यप ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था। तमाम दलीलों और बहस के बाद मनीष को आखिरकार राहत मिली थी। वैसे मनीष कश्यप की शुक्रवार को ही जेल से रिहाई हो जाती, लेकिन जमानत मिलने के बाद रिहाई के जो कागजात पटना की बेऊर जेल प्रशासन को सौंपे गए। उनमें कुछ गड़बड़ी होने की वजह से रिहाई टल गई थी।

वहीं रिहाई की आस में मनीष कश्यप के सैकड़ों समर्थक  बेऊर जेल के बाहर जमा रहे। लेकिन उम्मीद जताई जा रही है कि आज मनीष कश्यप की रिहाई हो सकती है। तमिलनाडु में बिहारियों पर हमले के कथित वीडियो वायरल करने के मामले में मनीष कश्यप के खिलाफ मदुरै में केस हुआ था। कुछ समय तक मनीष कश्यप को तमिलनाडु की मदुरै जेल में भी रखा गया। इसके बाद प्रोडक्शन वारंट पर बिहार पुलिस उन्हें लेकर पटना आई थी। अब मनीष को सबी मामलों में जमानत मिल गई है। करीब 9 महीने बाद वे जेल से बाहर आएंगे।

 

इससे पहले पटना सिविल कोर्ट में एक मामले में हुई पेशी के दौरान यूट्यूबर मनीष कश्यप का बयान देते एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें लापरवाही बरतने के आरोप में चार पुलिसवालों को निलंबित कर दिया गया था। दरअसल, पेशी के दौरान बंदी को किसी भी बाहरी से बातचीत करने की इजाजत नहीं होती। ऐसे में सिपाहियों के सामने मनीष ने बयान दे दिया और किसी ने रोक-टोक नहीं की। जो सुरक्षा में बड़ी चूक थी।

वायरल वीडियो में मनीष कश्यप ने कहा था कि हम चारा चोर के बेटा थोड़े ही है, जो हम डरेंगे। मनीष कश्यप आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव और राज्य के डिप्टी सीएम तेजस्वी प्रसाद यादव पर निशाना साधते हुए कहा था कि  मुझे झुकाने का प्रयास किया जा रहा है। मगर, मैं फौजी का बेटा हूं। मैं मर जाऊंगा पर इन लोगों के आगे नहीं झुकूंगा।

यह भी पढ़िए- 6 महीने से चुप था...फौजी का बेटा हूं, चारा चोर का नहीं; पेशी के दौरान मनीष कश्यप ने लालू परिवार को ललकारा

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें