ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारमल्लिकार्जुन खड़गे के हेलिकॉप्टर की समस्तीपुर में ली गई तलाशी, कांग्रेस नेता भड़के

मल्लिकार्जुन खड़गे के हेलिकॉप्टर की समस्तीपुर में ली गई तलाशी, कांग्रेस नेता भड़के

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने शनिवार को समस्तीपुर और मुजफ्फरपुर में चुनावी रैली को संबोधित किया। समस्तीपुर में उनके हेलिकॉप्टर की प्रशासन ने तलाशी ली।

मल्लिकार्जुन खड़गे के हेलिकॉप्टर की समस्तीपुर में ली गई तलाशी, कांग्रेस नेता भड़के
Jayesh Jetawatलाइव हिन्दुस्तान,समस्तीपुरSat, 11 May 2024 11:24 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के हेलिकॉप्टर की शनिवार को बिहार के समस्तीपुर में तलाशी ली गई। हालांकि, उनके हेलिकॉप्टर से कुछ भी संदिग्ध नहीं पयाा गया। मगर इस मामले से सियासी हंगामा मच गया है। स्थानीय कांग्रेस नेताओं ने आपत्ति जताते हुए इसे अनुचित बताया है। खड़गे ने समस्तीपुर के हाउसिंग मैदान में शनिवार को कांग्रेस प्रत्याशी सन्नी हजारी के समर्थन में जनसभा की।

जानकारी के मुताबिक समस्तीपुर में हेलीपैड पर लैंड करने के बाद मल्लिकार्जुन खड़गे एवं अन्य नेता मंच पर चले गए। जब सभा चल रही थी तभी सीओ सलोनी कर्ण के नेतृत्व में प्रशासन की टीम द्वारा हेलिकॉप्टर की तलाशी ली गई।  वहां मौजूद एक कांग्रेस कार्यकर्ता ने इसका वीडियो बना लिया, जो देर शाम वायरल हो गया। 

नरेंद्र मोदी को पीएम नहीं बनने देंगे, बिहार पहुंचे खड़गे ने किया बड़ा दावा

इस मामले पर कांग्रेस के जिला अध्यक्ष मोहम्मद तमीन ने कहा कि यह विपक्षी दल को परेशान करने वाली प्रशासन की कार्रवाई है। वहीं, सदर एसडीओ दिलीप कुमार ने बताया कि चुनाव आयोग के दिशानिर्देश के अनुसार यह कार्रवाई की गई। समस्तीपुर में जितने भी नेता हेलिकॉप्टर से आए। सभी के हेलिकॉप्टर जांचे गए। इसकी रिपोर्ट भी चुनाव आयोग को भेजी गई है। उन्होंने बताया कि पूर्व में लोजपा रामविलास के अध्यक्ष चिराग पासवान और डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी जैसे नेताओं के हेलिकॉप्टर की भी तलाशी ली जा चुकी है।

समस्तीपुर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए खड़गे ने कहा कि यह लोकतंत्र और संविधान को बचाने का चुनाव है। बीजेपी और आरएसएस के लोगों का देश की आजादी में कोई योगदान नहीं रहा। ये जेल भी नहीं गए। कांग्रेस ने देश के संविधान और लोकतंत्र को बचाकर रखा, तभी नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बन पाए।