ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारमहेश्वर हजारी लोकसभा लड़ेंगे या नीतीश सरकार में मंत्री बनेंगे? इस्तीफे के बाद खुद किया खुलासा

महेश्वर हजारी लोकसभा लड़ेंगे या नीतीश सरकार में मंत्री बनेंगे? इस्तीफे के बाद खुद किया खुलासा

महेश्वर हजारी ने कहा कि मैंने  स्वेच्छा से और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ परामर्श के बाद इस्तीफा दिया है। आलाकमान मेरे बारे में जो भी निर्णय लेगा, मैं उसका पालन करूंगा। 

महेश्वर हजारी लोकसभा लड़ेंगे या नीतीश सरकार में मंत्री बनेंगे? इस्तीफे के बाद खुद किया खुलासा
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाWed, 21 Feb 2024 09:24 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार विधानसभा के उपाध्यक्ष महेश्वर हजारी ने अपने पद से बुधवार को इस्तीफा दे दिया। विधानसभा के सचिव राजकुमार ने महेश्वर हजारी के पदत्याग की जानकारी दी। विधानसभा उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद अटकलों को बाजार गरम हो गया। हालांकि खुद महेश्वर हजारी ने कयासों पर पूर्ण विराम लगा दिया। राजधानी पटना में पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान महेश्वर हजारी ने कहा कि मैंने  स्वेच्छा से और मुख्यमंत्री एवं जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार के साथ उचित परामर्श के बाद इस्तीफा दिया है। उन्होंने लोकसभा चुनाव लड़ने और मंत्री बनने के कयासों को खारिज करते हुए कहा कि मैं पार्टी का प्रतिबद्ध सिपाही हूं। आलाकमान मेरे बारे में जो भी निर्णय लेगा, मैं उसका पालन करूंगा। 

वहीं दूसरी ओर जदयू के नरेन्द्र नारायण यादव बिहार विधानसभा के उपाध्यक्ष होंगे। वे गुरुवार को इसके लिए विधिवत नामांकन करेंगे। विधानसभा सचिवालय से मिली जानकारी के अनुसार नरेन्द्र नारायण यादव सुबह 10.30 बजे नामांकन करेंगे। विधानसभा अध्यक्ष नंदकिशोर यादव ने सदन को बताया कि नए उपाध्यक्ष के लिए शुक्रवार को चुनाव होगा। उम्मीदवारों को 22 फरवरी तक नामांकन पत्र दाखिल करना होगा।

महेश्वर हजारी 2 वर्ष 11 माह उपाध्यक्ष रहे:
महेश्वर हजारी 24 मार्च 2021 को विधानसभा उपाध्यक्ष बने थे। वे 20 फरवरी 2024 तक इस पद पर रहे। वे दो वर्ष 11 माह तक उपाध्यक्ष की कुर्सी पर रहे। वहीं नरेंद्र नारायण यादव विधानसभा के 19 वें उपाध्यक्ष जबकि 18 वें व्यक्ति होंगे। शकूर अहमद दो बार विधानसभा उपाध्यक्ष बने थे। अब्दुल बारी विधानसभा के पहले उपाध्यक्ष थे। वे 1937 से 1939 तक विधानसभा के उपाध्यक्ष रहे। उनके बाद देवशरण सिंह, जगत नारायण सिंह, प्रभुनाथ सिंह, सत्येन्द्र नारायण अग्रवाल, योगेन्द्र प्रसाद, शकूर अहमद, राधानंदन झा, गजेन्द्र प्रसाद हिमांशु, शिवनंदन पासवान, रघुवंश प्रसाद सिंह, देवेन्द्र नाथ चांपिया, जगबंधु अधिकारी, भोला प्रसाद सिंह, शकुनी चौधरी, अमरेन्द्र प्रताप सिंह और महेश्वर हजारी क्रम से विधानसभा के उपाध्यक्ष बने। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें