ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबिहार में कोई सुनता नहीं, बनारस वाले भी जानते हैं कि...; पीएम मोदी के गढ़ में नीतीश की रैली पर भड़के चिराग

बिहार में कोई सुनता नहीं, बनारस वाले भी जानते हैं कि...; पीएम मोदी के गढ़ में नीतीश की रैली पर भड़के चिराग

जमुई सांसद ने कहा कि नीतीश कुमार को अब बिहार में कोई सुनता नहीं है। अब वह बनारस जाएंगे। उन्हें लगता हैं कि दूसरे राज्य की जनता उन्हें सुनना चाहेगी। पूछा कि वे क्या लेकर बनारस जाएंगे

बिहार में कोई सुनता नहीं, बनारस वाले भी जानते हैं कि...; पीएम मोदी के गढ़ में नीतीश की रैली पर भड़के चिराग
Sudhir Kumarलाइव हिंदुस्तान,पटनाSun, 10 Dec 2023 02:23 PM
ऐप पर पढ़ें

नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने बीजेपी के खिलाफ अपना चुनावी प्लान सेट कर लिया है। इसी के तहत पीएम नरेंद्र मोदी के लोकसभा क्षेत्र बनारस में बिहार सीएम रैली करने जा रहे हैं। इस प्रस्तावित रैली पर एनडीए के सभी दल हमलावर हैं। लोजपा रामविलास के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने बनारस रैली को लेकर नीतीश कुमार पर हमला बोल दिया है। कहा है कि बिहार में नीतीश को कोई नहीं सुन रहा तो उत्तर प्रदेश जा रहे हैं। लेकिन बनारस के लोग उन्हें अच्छे से जानते हैं।

पटना एयरपोर्ट पर रविवार को पत्रकारों के सवाल पर जमुई सांसद  ने कहा कि नीतीश कुमार को अब बिहार में कोई सुनता नहीं है। अब वह बनारस जाएंगे। उन्हें लगता हैं कि दूसरे राज्य की जनता उन्हें सुनना चाहेगी। लेकिन वे क्या लेकर बनारस जाएंगे? उन्हें पता होना चाहिए कि बिहार और बनारस बहुत दूर नहीं है।  क्या बनारस के लोग नहीं जानते कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार में क्या किया है? हकीकत यह है कि बनारस विकसित हो चुका है। लेकिन बिहार कहां है। यहां  काशी विश्वनाथ मंदिर जैसा कोई भी मंदिर नहीं है। उन्होंने पूछा कि नीतीश कुमार कौन सा मॉडल लेकर बनारस जाएंगे?

हमारा प्यार देखा है- अब दुश्मनी भी देखेंगे, सम्राट चौधरी ने बिहार से बाहर नीतीश की रैली पर दिया करारा जवाब

चिराग पासवान ने सवालों के जवाब देते हुए कहा कि 19 सालों में मुख्यमंत्री की नीतियों में क्या-क्या कमियां रहीं इसे जाहिर करें। अपनी विफलताओं को केंद्र सरकार के समक्ष रखें। बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिलना चाहिए। इसपर हमारा भी समर्थन है। लेकिन जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विशेष राज्य के दर्जे की मांग करते हैं तो उनको इस बात को स्वीकार करना होगा कि 19 साल के उनके कार्यकाल में बिहार पीछे रह गया।  उनकी नीतियां बिहार की अर्थव्यवस्था को सुधारने और लोगों की आय में बढ़ोतरी करने में नाकाम रहीं। लेकिन, अपनी बेइज्जती करना  उचित नहीं है।

बता चलें कि जेडीयू सीएम नीतीश की उत्तर प्रदेश और झारखंड में चुनावी रैलियां कराने की तैयारी कर रही है।  लोकसभा चुनाव  2024 को लेकर नीतीश की पार्टी एक्शन में है। पहली रैली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में होने वाली है। नीतीश इसी महीने बनारस में मोदी सरकार के खिलाफ हुंकार भर सकते हैं। 24 दिसंबर को बनारस के रोहनियां में उनकी जनसभा कराने की तैयारी की चल रही है। झारखंड के रामगढ़ में भी उनका कार्यक्रम होने वाला है जिसकी तैयारी जोर शोर से चल रही है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें