DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समीक्षा बैठक- लोकसभा चुनाव परिणाम षड्यंत्र का नतीजा : राजद

बिहार में लोकसभा चुनाव परिणाम को राजद ने जनादेश मानने से इनकार किया है। लोकसभा चुनाव में पहली बार शून्य पर सिमटने के बाद हुई समीक्षा बैठक में राजद ने कहा कि यह जनता का जनादेश नहीं है। षड्यंत्र के तहत विरोधियों ने यह परिणाम हासिल किया है। चुनाव परिणाम की जांच पार्टी की तीन सदस्यीय टीम करेगी।

मंगलवार को दस सर्कुलर रोड में पूर्व सीएम राबड़ी देवी और नेता विरोधी दल तेजस्वी प्रसाद यादव की अध्यक्षता में हुई बैठक में राजद के लोकसभा चुनाव लड़े प्रत्याशियों में शरद यादव, मीसा भारती, जगदानंद सिंह, अब्दुलबारी सिद्दिकी, चंद्रिका राय, शिवचंद्र राम सहित अन्य नेताओं की बैठक लगभग तीन घंटे तक चली। बैठक के बाद वरिष्ठ नेता जगदानंद प्रसाद सिंह ने कहा कि जिन लोगों की सभाओं में लोगों की उपस्थिति नहीं होती थी, जिनके चेहरे गिरे हुए थे, चुनाव के दौरान कहीं कोई उत्साह नहीं था, ऐसे में यह चुनाव परिणाम जनादेश नहीं हो सकता। यह षड्यंत्र का ही परिणाम है। इसकी सूक्ष्मता से समीक्षा होगी कि आखिरकार महागठबंधन को हराने के लिए क्या-क्या षड्यंत्र किए गए। चुनाव परिणाम से महागठबंधन हतोत्साहित नहीं है। जनादेश हमारे पक्ष में था। षड्यंत्र के तहत नतीजे पलटे गए। 

विधानसभा चुनाव तक तेजस्वी करते रहेंगे नेतृत्व 
तेजस्वी का बचाव करते हुए जगदानंद ने कहा कि चुनाव में महागठबंधन के सभी नेताओं ने मेहनत की पर तेजस्वी यादव ने अथक प्ररिश्रम किया। 235 सभाएं कर युवाओं के बीच जागृति पैदा की। नौजवानों में जो उत्साह पैदा हुआ है, उसे विधानसभा चुनाव तक बरकरार रखेंगे। राजद को अपने नेतृत्व पर पूर्ण विश्वास है। लालू प्रसाद का मार्गदर्शन मिलता रहेगा। राष्ट्रीय परिषद की ओर से अधिकृत तेजस्वी यादव राजद का नेतृत्व आगामी विस चुनाव तक करते रहेंगे। 

तेजप्रताप पर चुप्पी
जहानाबाद में मामूली अंतर से हार और तेजप्रताप यादव की भूमिका के सवाल को जगदानंद टालते रहे। कहा कि राजद के लिए एक-दो सीट नहीं, पूरा बिहार है। महागठबंधन जहां से चुनाव जीत रहा था, वहां लाख-दो लाख के अंतर से हारना जनादेश नहीं है। बिहार के साढ़े दस करोड़ लोग जानना चाहते हैं कि यह कैसे हुआ। महागठबंधन में फूट को निराधार बताते हुए कहा कि आगामी विस चुनाव में भी यह एकजुटता बनी रहेगी। 

प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि चुनाव परिणाम की जांच के लिए जगदानंद सिंह की अध्यक्षता में बनी  कमेटी में अब्दुलबारी सिद्दिकी और आलोक कुमार मेहता हैं। समिति सभी से बातचीत कर रिपोर्ट बनाएगी कि कैसे जनमत को पलटा गया। एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट आएगी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lok Sabha election result is conspiracy thesis RJD