ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारजान पर खेल कर लोको पायलट ने ठीक किया ट्रेन की खराबी, तस्वीरें हैरान कर देंगी; रेलवे ने किया सम्मानित

जान पर खेल कर लोको पायलट ने ठीक किया ट्रेन की खराबी, तस्वीरें हैरान कर देंगी; रेलवे ने किया सम्मानित

समस्तीपुर रेलमंडल के बाल्मीकिनगर और पनियावा स्टेशनों के बीच बने पुल संख्या 382 पर अचानक लोको इंजन के अनलोडर वॉल्व से एयर प्रेशर लीकेज होने लगा। बीच पुल पर ट्रेन रुक गई। कोई उसे ठीक करने वाला नहीं था।

जान पर खेल कर लोको पायलट ने ठीक किया ट्रेन की खराबी, तस्वीरें हैरान कर देंगी; रेलवे ने किया सम्मानित
Sudhir Kumarलाइव हिन्दुस्तान,समस्तीपुरSat, 22 Jun 2024 12:04 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में ट्रेन ड्राइवर के साहस की हैरान करने वाली तस्वीर सामने आई है। लोको पायलट ने अपनी जान पर खेलकर न सिर्फ ट्रेन में आई खराबी को दूर किया बल्कि सभी यात्रियों को समय  से सुरक्षित उनके गंतव्य तक पहुंचा दिया। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। रेलवे ने ट्रेन के लोको पायलट और उनके सहायक को सम्मानित करने की घोषणा की है। लोको पायलट अजय कुमार यादव और रंजीत कुमार के इस साहस की चारों ओर चर्चा हो रही है।

दरअसल समस्तीपुर रेलमंडल के बाल्मीकिनगर और पनियावा स्टेशनों के बीच बने पुल संख्या 382 पर अचानक लोको इंजन के अनलोडर वॉल्व से एयर प्रेशर लीकेज होने लगा।  जिसके कारण बीच पुल पर ट्रेन रुक गई। कोई उसे ठीक करने वाला नहीं था। पुल के उपर लीकेज के कारण वहां पहुंचना काफी मुश्किल था>   लेकिन लोको पायलट और सहायक लोको पायलट ने साहस का परिचय देते हुए जान जोखिम में डालकर पुल पर ट्रेन के नीचे रेंगते हुए इंजन से हो रहे लीकेज को ठीक करने निकल पड़े।

काफी मशक्कत करने के बाद पायलट इंजन से अनलोडर वॉल्व से एयर प्रेशर के लीकेज को ठीक करने में कामयाब हो गए। ट्रेन के नीचे पुल पर रेंगते हुए लोको पायलट बाहर निकलकर ट्रेन को सही सलामत चला कर स्टेशन ले गए।  इस साहसिक कार्य को देखते हुए समस्तीपुर रेल मंडल के डीआरएम विनय श्रीवास्तव ने दोनों लोको पायलट को 10 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है।

बता दें कि ट्रेन संख्या 05497 नरकटियागंज गोरखपुर पैसेंजर ट्रेन जब बाल्मीकिनगर और पनियावा के बीच किलोमीटर-298/20 के पास पुल संख्या- 382 पर पहुंची तो अचानक इंजन (लोको) के अनलोडर वॉल्व से एयर प्रेशर का लीकेज होने लगा।  जिस कारण एमआर प्रेशर कम हो गया और ट्रैक्शन मिलना बंद हो गया और ट्रेन बीच पुल पर खड़ी हो गई।  बीच पुल पर ट्रेन के रुक जाने के बाद उसे ठीक करने का कोई रास्ता समझ नहीं आ रहा था।

इस बीच लोको पायलट अजय कुमार यादव और सहायक लोको पायलट नरकटियागंज रंजीत कुमार पुल पर लटकते और रेंगते हुए लीकेज वाली जगह पर पहुंचे और UL वॉल्व के कॉक को आइसोलेट कर लिकेज को बंद करने में कामयाब हो गए। तब जाकर लोको का प्रेशर बनने लगा और ट्रेन अपने मंजिल पर पहुंच पाई।  इस तरह की सूझबूझ से न केवल ट्रेन को लेट होने से बचाया गया बल्कि बड़ा हादसा भी टला।

समस्तीपुर रेलमंडल के डीआरएम विनय श्रीवास्तव ने लोको पायलट अजय कुमार यादव सहायक लोको पायलट रंजीत कुमार को उनके साहस के लिए 10 हजार का पुरस्कार दिया गया। बता दें, पैसेंजर ट्रेन 05497 नरकटियागंज जंक्शन से 05:20 बजे निकलती है और 10:20 बजे गोरखपुर जंक्शन पहुंचती है. ये ट्रेन कुल 5 घंटे में ये सफर तय करती है और यात्रा के दौरान 21 स्टेशनों पर रुकती है।