ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारलैंड फॉर जॉब स्कैम: बीजेपी बोली- रेलवे कर्मचारियों की सीबीआई पूछताछ में सामने आएगी लालू परिवार की सच्चाई

लैंड फॉर जॉब स्कैम: बीजेपी बोली- रेलवे कर्मचारियों की सीबीआई पूछताछ में सामने आएगी लालू परिवार की सच्चाई

नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि नौकरी के बदले जमीन घोटाला में सीबीआई द्वारा लाभुक कर्मचारियों को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया गया है। इसी पूछताछ में लालू परिवार की सच्चाई उजागर होगी।

लैंड फॉर जॉब स्कैम: बीजेपी बोली- रेलवे कर्मचारियों की सीबीआई पूछताछ में सामने आएगी लालू परिवार की सच्चाई
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाMon, 20 Nov 2023 07:50 PM
ऐप पर पढ़ें

नौकरी के बदले जमीन घोटाले में अगले सप्ताह रेलवे विभाग के करीब एक दर्जन कर्मचारियों और अधिकारियों से पूछताछ होगी। सीबीआई के दिल्ली स्थित मुख्यालय में यह पूछताछ 21 नवंबर से लेकर 25 नवंबर के बीच होनी है। अब बीजेपी से इस मामले को लेकर लालू परिवार पर हमला बोला है। नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि नौकरी के बदले जमीन घोटाला में सीबीआई द्वारा लाभुक कर्मचारियों को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया गया है। इसी पूछताछ में लालू परिवार की सच्चाई उजागर होगी।

सोमवार काे बयान जारी कर उन्होंने कहा कि रेल मंत्रालय के अधिकारियों समेत सोनपुर, दानापुर डिवीज़न के कर्मियों को 21 से 25 नवंबर के बीच सीबीआई द्वारा पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया गया है।  उन्होंने कहा कि 2004-09 की अवधि में रेल मंत्री रहते हुए लालूजी ने नौकरी देने के बदले लोगों से जमीन ली। इनके परिवार के लोगों औऱ सहकर्मियों के द्वारा लाभुकों को बुलाकर उनसे नौकरी का सौदा किया जाता था और जमीन ली जाती थी। सभी जमीन एके इंफोसिस्टम प्राइवेट लिमिटेड के नाम की जाती थी जिसे इनके परिवार के सदस्यों के नाम ट्रांसफर किया जाता था।

विजय सिन्हा ने आगे कहा कि इस कंपनी की हैसियत करोड़ों में थी परंतु तेजस्वी यादव ने इसे मात्र 4 लाख में खरीदा। हाल ही में उस कंपनी के पुराने मालिक अमित कात्याल को प्रवर्तन निदेशालय द्वारा गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया गया है। अभी तक स्वयं अथवा इस मामले में अन्य अभियुक्त किसी ने भी अपने निर्दोष होने का सबूत नहीं दिया है। इसलिए इस मामले में सभी को सजा मिलना निश्चित है।

लालू, तेजस्वी समेत कई लोगों से हो चुकी पूछताछ
लालू प्रसाद यादव के रेल मंत्री रहने के दौरान हुए इस घोटाले में तेजस्वी यादव, मीसा यादव समेत कई लोगों के नाम शामिल हैं। इस मामले की जांच ईडी और सीबीआई दोनों मिलकर कर रहे हैं। 2004 से 09 के दौरान हुए इस घोटाले में ईडी ने लालू यादव, तेजस्वी यादव समेत कई लोगों से पूछताछ की है।