ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारबीजेपी के गढ़ में बेटी रोहिणी आचार्या की हुंकार, सारण को कर्मभूमि बनाएंगी लालू की लाडली

बीजेपी के गढ़ में बेटी रोहिणी आचार्या की हुंकार, सारण को कर्मभूमि बनाएंगी लालू की लाडली

पिता को किडनी दान करने के कारण चर्चा में रहीं रोहिणी आचार्य ने मंगलवार को पटना से सारण के लिए रवाना होने से पहले माता-पिता के चरण स्पर्श किए और घर में बने मंदिरों में पूजा-अर्चना की।

बीजेपी के गढ़ में बेटी रोहिणी आचार्या की हुंकार, सारण को कर्मभूमि बनाएंगी लालू की लाडली
Malay Ojhaभाषा,पटनाWed, 03 Apr 2024 09:45 AM
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्य ने मंगलवार को अपने चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत करने के बाद कहा कि वह सारण को अपनी 'कर्मभूमि' बनाएंगी। वह सारण लोकसभा सीट से राजद की प्रत्याशी हैं। बता दें कि वर्तमान समय में सारण लोकसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का कब्जा है और इस सीट से 2019 में राजीव प्रताप रूड़ी ने चुनाव जीता था। सोशल मीडिया पर अपनी सक्रियता और पिता को किडनी दान करने के कारण चर्चा में रहीं रोहिणी आचार्य ने मंगलवार को पटना से सारण के लिए रवाना होने से पहले माता-पिता (लालू प्रसाद और राबड़ी) के चरण स्पर्श किए और घर में बने मंदिरों में पूजा-अर्चना की। 

रोहिणी आचार्य ने मीडिया के साथ बातचीत के दौरान कहा कि हमने कल बाबा हरिहा नाथ का आशीर्वाद लिया। अब मैं सारण में अपने मतदाताओं से मिलने जा रही हूं। आपको (मीडियाकर्मियों को) भी मुझे आशीर्वाद देना चाहिए। मंगलवार को प्रचार अभियान के दौरान पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैं सारण के लोगों से मिल रहे अपार प्यार और आशीर्वाद से अभिभूत हूं। यहां के मतदाता जिस तरह से मुझसे मिल रहे हैं, उससे ऐसा लगता है जैसे कि एक बेटी अपने घर आई हो। मैं धन्य हूं…। यह (सारण) मेरे पिता की 'कर्मभूमि' रही है और अब यह मेरी कर्मभूमि होने जा रही है। बता दें कि सारण में पांचवें चरण में 20 मई को मतदान होगा। 

पिता को किडनी दी लेकिन सारण की जनता के लिए जान हाजिर है: रोहिणी आचार्य

सारण से रोहिणी आचार्य को मैदान में उतारने के राजद के फैसले पर टिप्पणी करते हुए बिहार भाजपा अध्यक्ष और राज्य के उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने मंगलवार को पटना में कहा कि अपने परिवार के सदस्यों को चुनावी राजनीति में उतारना राजद प्रमुख लालू प्रसाद की पहचान रही है। इसे कहते हैं 'वंशवादी राजनीति'। वह (लालू) अब तक अपने दो बेटों और दो बेटियों को राजनीति में ला चुके हैं, अब देखते हैं कि उनकी बाकी पांच बेटियां, जो हमारी बहनें हैं, उन्हें कब राजनीति में लाते हैं।

हमारी 5 बहनें बच गईं हैं, उनको कब उतारेंगे... सम्राट चौधरी के निशाने पर लालू यादव

वहीं राज्य के एक अन्य उपमुख्यमंत्री विजय सिन्हा ने भी रोहिणी आचार्य पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह अभी सिंगापुर में रहती हैं और अब यहां (सारण) से चुनाव लड़ रही हैं। जनता तय करेगी कि किसे जिताना है-उसे जो बिहार के प्रति प्रतिबद्ध है (सारण से भाजपा उम्मीदवार राजीव प्रताप रूडी) या वह जो सिंगापुर से आई हैं। उन्होंने यह भी दावा किया कि भाजपा नीत राजग राज्य की सभी 40 लोकसभा सीट पर जीत दर्ज करेगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें