DA Image
27 फरवरी, 2020|12:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लालू ने सीएम नीतीश को लिया आड़े हाथ, बोले- काम धेले का नहीं, नौटंकी और फिजूलखर्ची क्यों?

लालू-नीतीश

लालू प्रसाद यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। नीतीश की जल-जीवन-हरियाली यात्रा पर तंज कसते हुए लालू ने ट्वीट कर इसे ''छल छीजन घड़ियाली" का नाम दिया है। उन्होंने नीतीश कुमार को पलटूराम कहते हुए मानव श्रृंखला बनाने को आड़े हाथ लेकर कहा कि बाढ़ राहत में कभी पलटूराम ने 18 हेलिकॉप्टर नहीं लगाए जो अब मानव श्रृंखला का फोटू खिंचवाने के लिए करोड़ों खर्च कर 18 हेलिकॉप्टर मंगवाएं हैं।

लालू यादव ने ट्वीट किया, ''ग़रीब का 24500 करोड़ 'छल छीजन घड़ियाली' के नाम पर लूटा और अब करोड़ों मानव श्रृंखला के नाम। आम नागरिक के धन की बर्बादी व नौटंकी की यह पराकाष्ठा है। बाढ़ राहत में कभी पलटूराम ने 18 हेलिकॉप्टर नहीं लगाए जो अब मानव श्रृंखला का फोटू खिंचवाने के लिए करोड़ों खर्च कर 18 हेलिकॉप्टर मंगवाएं हैं।''

लालू ने लिखा कि कड़ाके की ठंड में मानव श्रृंखला में अगर अधिकारी जबरदस्ती बूढ़े, बच्चों, औरतों, स्कूली छात्रों व आम नागरिकों को खड़ा करे तो उसका वीडियो बनाकर डाल देना। करोड़ों का सरकारी खर्च, फ़ोटो खींचने के लिए 18 हेलिकॉप्टर, मुंबई से फ़ोटोग्राफ़र और काम धेले का नहीं। यह नौटंकी और फिज़ूलखर्ची क्यों?

एक और ट्वीट में लालू ने लिखा, ''नीतीश जी, आपके पास दुर्गति की मार झेल रहे स्कूलों, अस्पतालों, छात्रों, युवाओं, किसानों, गरीबों की स्थिति में सुधार के लिए पैसे नहीं हैं लेकिन अपने अनैतिक महिमामंडन के लिए फिजूलखर्ची में खर्च करने के लिए करोड़ों रुपये हैं? यह आज के अख़बार की कतरन है। हाईकोर्ट ने शाबाशी दी है।''

लालू ने लिखा, ''नीतीश एक असंवेदनहीन आत्ममुग्ध तानाशाह हैं! जनता के तकलीफों का उन्हें कण भर भी अहसास नहीं! राज्य के स्कूल, कॉलेज, अस्पताल बदहाली का रोना रो रहे हैं। करोड़ों युवा बेरोजगार बैठे हैं लेकिन ये सरकारी खर्चे पर राजनीतिक यात्रा कर खजाने का करोड़ों लूट रहे हैं और करोड़ों बर्बाद कर रहे हैं।''

मानव श्रृंखला

बताते चलें कि जल-जीवन-हरियाली, नशामुक्ति, दहेज व बाल विवाह उन्मूलन के समर्थन में बनने वाली राज्यव्यापी मानव शृंखला की फोटग्राफी-वीडियोग्राफी अबकी आसमान से होगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर यह कार्य हेलीकाप्टर से कराने का निर्णय लिया गया है। फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी को लेकर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में इसके लिए जिम्मेवारी भी तय कर दी गई है। इससे पहले साल 2017 में नशामुक्ति और 2018 में बाल विवाह व दहेज उन्मूलन के पक्ष में बनी बिहार की मानव शृंखलाओं ने विश्व रिकॉर्ड बनाया था। इन दोनों की शृंखलाओं की फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी ड्रोन से कराई गई थी, लेकिन समीक्षा में यह बात सामने आई कि ड्रोन से इस ऐतिहासिक क्षण की यादों को सहेजने की कोशिश बहुत कारगर नहीं हो सकी। यही कारण है कि इस बार राज्यव्यापी मानव शृंखला की फोटग्राफी-वीडियोग्राफी हेलिकॉप्टर से करने का फैसला लिया गया।

अमित शाह ने नीतीश कुमार के नाम की घोषणा कर एक तीर से साधे दो निशाने

केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे को पीयू के सामने दिखाए काले झंडे

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Lalu Prasad Yadav took dig at CM Nitish Kumar on jal jeevan hariyali campaign