ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारथाना के लॉकअप में महिला कैदी ने की आत्महत्या, साड़ी का फंदा बना पंखे से झूल गई, बहू की हत्या का आरोप

थाना के लॉकअप में महिला कैदी ने की आत्महत्या, साड़ी का फंदा बना पंखे से झूल गई, बहू की हत्या का आरोप

बंदी महिला ने साड़ी का फंदा बनाकर पंखे से लटकाया और उसमें खुद झूल गई। इस घटना से इलाके मेंसनसनी फैल गई है वहीं पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया है। पुलिस के वरीय अधिकारी मामले की जांच में जुट गए हैं।

थाना के लॉकअप में महिला कैदी ने की आत्महत्या, साड़ी का फंदा बना पंखे से झूल गई, बहू की हत्या का आरोप
Sudhir Kumarलाइव हिन्दुस्तान,बेतियाMon, 22 Apr 2024 02:07 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के बगहा में एक महिला ने थाना के लॉकअप में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना शिकारपुर थाना की है। महिला को दहेज हत्या के मामले में पुलिस बंदी बनाकर लाई थी। उसे थाना के ऊपरी मंजिल पर महिला पुलिसकर्मियों के देखरेख में रखा गया था।  लेकिन लेडी कांस्टेबल की लापरवाही के कारण यह घटना घट गई। बंदी महिला ने साड़ी का फंदा बनाकर पंखे से लटकाया और उसमें खुद झूल गई।  इस घटना से इलाके मेंसनसनी फैल गई है वहीं पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया है। मृत महिला पर दहेज के लिए बहू की हत्या करने का आरोप था। पुलिस के वरीय अधिकारी मामले छानबीन में जुट गए हैं। परिजन दोषियों पर कठोर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

मृत महिला की पहचान महुआवा निवासी महेंद्र साह की पत्नी सम्भा देवी, 50 वर्ष के रूप में की गयी है। दिन के साढ़े ग्यारह बजे उसने आत्महत्या की वारदात को उस समय अंजाम दिया जब महिला कांस्टेबल उसे अकेली छोड़कर निकल गई थी। दरअसल महिला को थाने के हाजत से बदले महिला बैरक में रखा गया था। पुलिस इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रही थी। डीएसपी जयप्रकाश सिंह और इंस्पेक्टर राजीव कुमार न शिकारपुर थाने पर पहुंच गए हैं। थानाध्यक्ष अवनिश कुमार सिंह के साथ सभी पदाधिकारियों की बैठक चल रही है। जिस महिला पुलिस की कस्टडी में संभा देवी को रखा गया था उससे भी पूछताछ की जा रही है। इस मामले में एसपी डी अमरकेश ने सिर्फ इतना बताया कि मामले की छानबीन चल रही है।

दरअसल नरकटियागंज के महुअवा गांव में रविवार को गर्भवती अंतिमा कुमारी (19) की गला दबाकर हत्या कर दी गई। सूचना पर पहुंची  मामले में गर्भवती की सास सम्भा देवी को गिरफ्तार कर लिया। थानाध्यक्ष अवनीश कुमार ने बताया कि गर्भवती की मां लौरिया थाने के लिपनी गांव की मिथलावती देवी के आवेदन पर मामले में एफआईआर दर्ज की गई। उसने पुत्री की हत्या में सास सम्भा देवी, देयादिन रौशनी देवी समेत अन्य को आरोपित किया था। गर्भवती के गले पर निशान मिले।

पुलिस को दिये आवेदन में मां ने कहा था कि पुत्री अंतिमा की शादी एक वर्ष पूर्व हुई थी। दो माह पूर्व उसका गौना हुआ था। वह गर्भवती भी थी। दामाद का उसकी भाभी से अवैध संबंध था। मेरी पुत्री इसका विरोध करती थी। इस पर सास, भौजाई के साथ अन्य लोग मेरी पुत्री को प्रताड़ित करते थे। सुसराल वाले दहेज में पांच लाख रुपए समेत अन्य सामान की मांग कर रहे थे।