ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारखरमास खत्म, राजनीति शुरू; RJD-JDU-BJP के चूड़ा दही भोज पर किसने क्या कहा?

खरमास खत्म, राजनीति शुरू; RJD-JDU-BJP के चूड़ा दही भोज पर किसने क्या कहा?

4 साल बाद मकर संक्रांति के मौके पर लालू राबड़ी का आवास गुलजार है। लालू यादव का चूड़ा दही भोज पूरे देश में विख्यात है। मकर संक्रांति पर बीजेपी भी पीछे नहीं है। पार्टी ऑफिस में भोज का आयोजन किया गया है।

खरमास खत्म, राजनीति शुरू; RJD-JDU-BJP के चूड़ा दही भोज पर किसने क्या कहा?
Sudhir Kumarलाइव हिंदुस्तान,पटनाMon, 15 Jan 2024 12:01 PM
ऐप पर पढ़ें

खरमास खत्म हो गया है और आज मकर संक्रांति है। आम आदमी से लेकर राजनीतिक दलों के बहुत सारे रुके हुए काम आज से शुरू हो रहे हैं। खरमास की समाप्ति के साथ राजनीति की मकर संक्रांति भी शुरू हो गई है। इस मौके पर  आरजेडी, जेडीयू और बीजेपी की ओर से चूड़ा दही भोज का आयोजन किया गया है।  लोकसभा चुनाव 2024 के मद्देनजर चूड़ा दही और तिल के बहाने अपनी-अपनी सियासत साधने की कोशिश चरम पर है।  राजनीतिक दल अपने विरोधियों पर आरोप प्रत्यारोप भी लगा रहे हैं।

4 साल बाद मकर संक्रांति के मौके पर लालू राबड़ी का आवास गुलजार है। लालू यादव का चूड़ा दही भोज पूरे देश में विख्यात है। दिल्ली में भी मकर संक्रांति पर उन्होंने इसका स्वाद नेताओं को चखाया। 2024 का महा मुकाबला सामने है तो आरजेडी भागलपुर का चूड़ा, गया का तिलकुट और पटना का दही लेकर स्वागत में तैयार है।  कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी इस भोज में शामिल होंगे।  इससे पहले रबड़ी आवाज पर लालू यादव के समर्थक अपने-अपने घरों से दही लेकर पहुंच रहे हैं।

उधर एससी एसटी कल्याण मंत्री रत्नेश सदा के आवास पर जदयू की ओर से  से  भोज का आयोजन किया गया है। रविवार की शाम को उन्हें इसका डायरेक्शन मिला तो तैयारी शुरू कर दी।  मंत्री सदा ने बताया कि लगभग 1000 लोगों को न्योता दिया गया है।  यहां भी लगभग 12:30 बजे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहुंचेंगे।  हालांकि, जदयू के भोज में महागठबंधन के अन्य दोनों को न्यौता नहीं है। जदयू के कई नेता तैयारी में लगे हैं। रत्नेश सादा ने कहा कि चूड़ा दही भोज 2024 के लिए शुभ होगा।

मकर संक्रांति पर बीजेपी भी पीछे नहीं है। पार्टी ऑफिस में चूड़ा दही भोज का आयोजन किया गया है।  भगवा और हरे रंग के भव्य पंडाल में कालीन पर कुर्सियां लगाई गई हैं जहां नेताओं और कार्यकर्ताओं का मीठी दही और तिलकुट के साथ स्वागत होगा।  चूड़ा दही सब्जी तिलकुट के साथ मिठाई कभी प्रबंध है। 

2024 की मकर संक्रांति  भोज  पर सियासी बयानबाजी भी शुरू हो गई है।  विरोधियों पर निशाना साधने में कोई  पीछे नहीं है।  भाजपा नेता कुंतल कृष्ण ने महागठबंधन के दलों पर हमला करते हुए कहा है कि आज खरमास की समाप्ति हो गई है।  दही चूड़ा और तिलकुट के साथ भारतीय जनता पार्टी यह संकल्प लेती है कि बिहार से 40 की 40 लोकसभा  जीत कर नरेंद्र मोदी जी के हाथ को मजबूत करना है और 2025 में बिहार को इस जंगल राज्य से मुक्ति दिलाना है।

इस पर पलटवार करते हुए कांग्रेस के प्रवक्ता असित नाथ तिवारी ने कविता के अंदाज में जवाब दिया है। कहा है-
दही में मिलाकर गुड़ का भूरा
सान के खाइए उसमें चूड़ा 
देश का मंगल अबकी बार 
तय कीजिए भाजपा की हार।

अब अच्छे दिनों की शुरुआत हो गई है।  जनता भी यह सुनिश्चित कर चुकी है कि इस बार देश में सचमुच वाले अच्छे दिन लाने हैं।  इस बार भाजपा के विदाई करनी है और नरेंद्र मोदी को हराना है। 

राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा है कि खरमास खत्म हो गया है, इसके  साथ राजनीति की संक्रांति शुरू हो रही है।  2024 का लोकसभा चुनाव सामने है। सबने देखा है कि हमारी सरकार 365 दिन बिहार की जनता की भलाई के लिए काम कर रही है।न नीतीश तेजस्वी  सरकार में नौकरी की भरमार है।

जदयू के प्रवक्ता अभिषेक झा ने कहा है कि मकर संक्रांति के अवसर पर हम सबको शुभकामनाएं देते हैं। नीतीश कुमार जहां रहते हैं वहां मजबूती के साथ रहते हैं।  2024 के जंग के लिए इंडिया गठबंधन एक होकर लड़ाई लड़ रहा है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें