ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारकर्नाटक सेक्स स्कैंडल: तेजस्वी का आरोप, बलात्कारियों को बचा रही बीजेपी, प्रज्वल रेवन्ना को भागने में की मदद

कर्नाटक सेक्स स्कैंडल: तेजस्वी का आरोप, बलात्कारियों को बचा रही बीजेपी, प्रज्वल रेवन्ना को भागने में की मदद

तेजस्वी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह कर्नाटक सेक्स स्कैंडल पर चुप्पी क्यों साधे हुए हैं। केंद्र की भाजपा सरकार ने आरोपी (प्रज्वल रेवन्ना) को जर्मनी भागने में मदद की।

कर्नाटक सेक्स स्कैंडल: तेजस्वी का आरोप, बलात्कारियों को बचा रही बीजेपी, प्रज्वल रेवन्ना को भागने में की मदद
Malay Ojhaभाषा,पटनाWed, 01 May 2024 12:09 AM
ऐप पर पढ़ें

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कर्नाटक सेक्स स्कैंडल को लेकर भाजपा पर हमला बोला है। तेजस्वी ने बलात्कारियों को बचाने और उन्हें भागने में मदद करने का आरोप लगाया। तेजस्वी कथित तौर पर जनता दल (सेक्युलर) (जेडीएस) के सांसद प्रज्वल रेवन्ना से जुड़े मामले पर प्रतिक्रिया दे रहे थे। तेजस्वी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह कर्नाटक सेक्स स्कैंडल पर चुप्पी क्यों साधे हुए हैं। केंद्र की भाजपा सरकार ने आरोपी (प्रज्वल रेवन्ना) को जर्मनी भागने में मदद की। आरोपी कर्नाटक में करीब 2500 महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार में शामिल है। उनके (भाजपा नेताओं) बेटी पढ़ाओ और बेटी बचाओ नारे का क्या हुआ। वे (भाजपा) बलात्कारियों को बचाने और उन्हें भागने में मदद करने में अधिक रुचि रखते हैं।

तेजस्वी ने कहा कि भाजपा नेता अब पूरी तरह बेनकाब हो गए हैं। मणिपुर की घटना पर प्रधानमंत्री चुप रहे। कुछ महीने पहले दिल्ली में प्रदर्शनकारी महिला पहलवानों के साथ हुए शर्मनाक व्यवहार पर भी वह चुप रहे। कर्नाटक सेक्स स्कैंडल के मामले में यह सर्वविदित तथ्य है कि प्रधानमंत्री ने हाल में कर्नाटक में आरोपी के लिए प्रचार किया और उनके साथ मंच साझा किया।

जब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की इस टिप्पणी के बारे में पूछा गया कि अगर विपक्षी 'इंडिया' गठबंधन की सरकार बनी तो उसके नेता एक-एक साल के लिए प्रधानमंत्री पद बांट लेंगे, तब तेजस्वी ने कहा कि आखिरकार उन्होंने (भाजपा) अपनी हार स्वीकार कर ली है। उन्हें एहसास हो गया है कि वे चुनावी लड़ाई हार रहे हैं।  उन्हें (भाजपा) लोकसभा चुनाव के आगामी चरणों में भी अपमानजनक हार का सामना करना पड़ेगा।