DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झामुमो को बिहार में तीर धनुष चुनाव चिह्न नहीं: पटना हाईकोर्ट

झारखंड मुक्ति मोर्चा बिहार में अपने चुनावी चिह्न तीर-धनुष पर चुनाव नहीं लड़ सकेगा। बिहार में उनके चुनावी चिह्न तीर-धनुष नहीं दिए जाने को लेकर पटना हाईकोर्ट में दायर अर्जी को न्यायमूर्ति विकास जैन की एकलपीठ ने खारिज कर दिया है। 

अर्जी में कहा गया है कि जदयू की शिकायत पर चुनाव आयोग ने झामुमो का पक्ष सुने बिना चुनावी चिह्न तीर-धनुष देने से इनकार कर दिया है जबकि झामुमो 1989 में अस्तित्व में आया। इस चुनाव चिह्न पर झारखंड मुक्ति मोर्चा ने बिहार में मान्यता प्राप्त राजनीतिक पार्टी के तौर पर वर्ष 2005, 2010 और 2015 में विधानसभा चुनाव लड़ा था लेकिन 14 वर्ष पूर्व गठित झारखंड मुक्ति मोर्चा का पक्ष सुने बिना चुनाव आयोग ने चुनाव चिह्न देने से इनकार कर दिया है। 

वहीं चुनाव आयोग की ओर से कोर्ट को बताया गया कि एक अन्य राजनीतिक पार्टी का चुनाव चिह्न तीर है। ऐसे में मतदाताओं के बीच भ्रम की स्थिति पैदा होगी। उनका कहना था कि चुनाव की घोषणा होने के बाद कोर्ट को चुनाव में हस्तक्षेप करने का अधिकार लगभग समाप्त हो जाता है। आयोग की ओर से सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले का हवाला भी दिया गया। कोर्ट ने मामले में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:JMM does not have Arrow bow sign in Bihar Patna High Court