DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › पंचायत चुनाव: चुनाव जीतने के साथ ही मुखिया जी की दबंगई शुरू, मुखिया ने कर दिया ऐसा काम कि पुलिस की कार्रवाई शुरु
बिहार

पंचायत चुनाव: चुनाव जीतने के साथ ही मुखिया जी की दबंगई शुरू, मुखिया ने कर दिया ऐसा काम कि पुलिस की कार्रवाई शुरु

संवाद सूत्र,जमुईPublished By: Sudhir Kumar
Tue, 28 Sep 2021 10:53 AM
पंचायत चुनाव: चुनाव जीतने के साथ ही मुखिया जी की दबंगई शुरू, मुखिया ने कर दिया ऐसा काम कि पुलिस की कार्रवाई शुरु

चुनाव जीतने के साथ हीं पंचायती राज जनप्रतिनिधियों की दबंगई शुरू हो गयी है। खबर जमुई से है जहां नवनिर्वाचित मुखिया के विजय जुलुस में हर्ष फायरिंग की गयी। विजय जुलुस में बड़े हथियार से खुलेआम फायरिंग की गयी। इस दबंगई में लाईसेंसी हथियार का उपयोग किया गया। इस हर्ष फायरिंग का वीडियो सामने आया है और पुलिस के हाथ लग गया है। अब इन मुखिया जी की मुश्किलें काफी बढ़ सकती हैं। ये माननीय हैं जमुई जिले के सबलबीघा पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया अंजनी मिश्रा उर्फ बंटी मिश्रा जो पहली बार चुनाव जीतकर मुखिया बने हैं।

हर्ष फायरिंग गंभीर अपराध

वीडियो पुलिस के हाथ लगने के बाद इसकी जांच की जा रही है। जांच की रिपोर्ट सामने आने के बाद एफआईआर दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। जमुई के एसपी प्रमोद कुमार मंडल ने कहा है कि विजय जुलुस में फायरिंग गंभीर अपराध है। यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन भी है। पुलिस इस मामले में काफी गंभीर और संवेदनशील है। इस मामले में जल्द ही सिकन्दरा थाने में एफआईआर दर्ज किया जाएगा और जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

हथियार सुरक्षा के लिए दिया जाता है न कि हर्ष फायरिंग के लिए 

बता दें कि जमुई जिला के सबलबीघा पंचायत में अंजनी मिश्रा मुखिया बने हैं। चुनाव परिणाम आने के बाद सोमवार को जुलुस निकाला गया था जिसमें बड़ी संख्या में मुखिया समर्थक शामिल थे। अंजनी मिश्रा के विजय जुलुस में  पटना में बिल्डर का काम करने वाले दीपक दूबे के गार्ड ने रायफल से की कई राउंड फायरिंग की। दोनो अच्छे मित्र हैं। एसपी पीके मंडल का कहना है कि हथियार सुरक्षा के लिए दिया जाता है न कि हर्ष फायरिंग के लिए। जांच में तथ्य आने के बाद रायफल का लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई की जाएगी।

सरपंच पद पर खड़े हुए थे दीपक दूबे के पिता

यहां विदित हो कि बिल्डर दीपक दूबे जिनके गार्ड के रायफल से फायरिंग की गई उनके पिता भी सरपंच पद के लिए चुनाव मैदान में थे लेकिन वो हार गए। लेकिन मित्र के जीत के जश्न में दीपक दूबे शामिल थे और अपने गार्ड के रायफल से फायरिंग पर कोई आपत्ति नही जताई। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

संबंधित खबरें