DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › जेपी नड्डा से मिले जीतन राम मांझी, चिराग पर नरम, नीतीश की नीतियों पर गरम
बिहार

जेपी नड्डा से मिले जीतन राम मांझी, चिराग पर नरम, नीतीश की नीतियों पर गरम

पटना लाइव हिन्दुस्तानPublished By: Yogesh Yadav
Thu, 16 Sep 2021 08:36 PM
जेपी नड्डा से मिले जीतन राम मांझी, चिराग पर नरम, नीतीश की नीतियों पर गरम

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और हम के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जीतन राम मांझी गुरुवार को भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिले। इस दौरान बिहार की राजनीतिक स्थिति को लेकर नड्डा से मांझी लंबी बातचीत हुई। कहा कि मुलाकात में बिहार के विभिन्न मुद्दों पर सार्थक चर्चा हुुई। बोले-नड्डा जी हमेशा बिहार के विकास को लेकर चिंतित रहतें हैं। मुलाकात के बाद मांझी एक बार फिर नीतीश के शराबबंदी कानून को लेकर गरम दिखाई दिये और उनके फैसले पर सवाल खड़े किये। वहीं चिराग पासवान को लेकर नरम रुख दिखाई दिया।

मांझी ने चिराग पासवान को लेकर कहा कि एनडीए में रहते हैं तो वे इसका स्‍वागत करेंगे। यह भी कहा कि यह उनका व्‍यक्तिगत मत है। एनडीए या जदयू का नहीं। उन्‍होंने एक बार फिर बिहार में शराबबंदी पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि इस कानून की समीक्षा की जरूरत है। मांझी ने कहा कि शराबबंदी से पहले बिहार में जितनी शराब बिकती थी, अब उससे दोगुनी ज्‍यादा बिकने लगी है। ऐसे में इस कानून की समीक्षा की जरूरत है। कहा कि कानून का डंडा जिन पर चलता है, उनमें से तीन चौथाई लोग गरीब तबके के होते हैं। केवल गरीब ही ज्‍यादा कार्रवाई की जद में आते हैं।

मांझी ने सारण के एमपी राजीव प्रताप रूडी की ओर से दी गई एंबुलेंस से शराब मिलने के मामले में कहा कि इसमें रूडी जी पर सवाल खड़ा करना गलत है। सांसद और विधायक अपने कोष से एंबुलेंस देते हैं। लेकिन उसका गलत उपयोग होने लगे तो इसमें जनप्रतिनिधि की तो गलती नहीं है। हां, जो दोषी हैं उनपर कार्रवाई होनी चाहिए। लेकिन राजीव प्रताप रूडी पर सवाल उठाना गलत है।  

यूपी चुनाव में गठबंधन धर्म का पालन होगा

मांझी ने उत्‍तरप्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर कहा कि जदयू और भाजपा का गठबंधन हो जाता है तो वे भी साथ में लड़ना चाहेंगे। लेकिन यदि दोनों पार्टियां अलग-अलग लड़ती हैं तो वे जदयू के साथ चुनाव लड़ेंगे। सीमावर्ती इलाके में जहां हमारा वर्चस्‍व है, उन सीटों पर चुनाव लड़ने का प्रयास करेंगे। मांझी ने यह भी कहा कि यदि जदयू सीट नहीं देगा तो वे चुनाव नहीं लड़ेंगे।

संबंधित खबरें