ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारDy PM की अटकलों के बीच JDU का ऐलान, नीतीश के ही नेतृत्व में 2025 का विधानसभा चुनाव लड़ेंगे

Dy PM की अटकलों के बीच JDU का ऐलान, नीतीश के ही नेतृत्व में 2025 का विधानसभा चुनाव लड़ेंगे

जेडीयू नेता विजय चौधरी ने कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजों से 2025 के विधानसभा चुनाव का रास्ता साफ हो गया है। उन्होंने कहा कि नीतीश के नेतृत्व में ही बिहार चुनाव लड़ा जाएगा।

Dy PM की अटकलों के बीच JDU का ऐलान, नीतीश के ही नेतृत्व में 2025 का विधानसभा चुनाव लड़ेंगे
nitish kumar
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,पटनाWed, 05 Jun 2024 03:49 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव 2024 के नतीजों के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। उनके एनडीए छोड़ इंडिया गठबंधन में जाकर डिप्टी पीएम बनने की अटकलें भी लगाई जा रही हैं। इस बीच नीतीश की पार्टी जनता दल यूनाइडेड (जेडीयू) ने स्पष्ट किया है कि वह बीजेपी के साथ एनडीए में ही बनी रहेगी। जेडीयू के वरिष्ठ नेता विजय कुमार चौधरी ने बुधवार को कहा कि 2024 के लोकसभा इलेक्शन रिजल्ट ने 2025 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव का मार्ग भी प्रशस्त कर दिया है। 2025 का चुनाव बिहार में सीएम नीतीश के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा।  

नीतीश के करीबी मंत्री विजय चौधरी ने बुधवार को कहा कि बिहार को विशेष पैकेज और मदद मिलनी चाहिए, हमलोगों की यह मांग आज भी कायम है। बिहार में एनडीए के प्रदर्शन ने यह साबित कर दिया है कि नीतीश के नेतृत्व के प्रति जनता का भरोसा उसी तरह से कायम है जो साल 2005 और 2010 में हुआ करता था। जेडीयू प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि बिहार में एनडीए का जो नतीजा है वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता के साथ-साथ मुख्यमंत्री के विकास कार्यों का मिला-जुला रूप है। उन्होंने यह भी कहा कि जेडीयू का एनडीए में आना बिहार के लोगों ने पसंद किया है।

संयोग? एक ही फ्लाइट से दिल्ली निकले नीतीश और तेजस्वी

बता दें कि लोकसभा चुनाव में बिहार में जेडीयू का प्रदर्शन अच्छा रहा। नीतीश कुमार की पार्टी ने 16 सीटों पर चुनाव लड़ा जिनमें से 12 पर जीत दर्ज की। सहयोगी दल बीजेपी ने 17 सीटों पर चुनाव लड़कर 12 पर जीत दर्ज की। बीजेपी को जहां पांच सीटों पर हार मिली, जबकि जेडीयू को चार पर ही हार का सामना करना पड़ा। वहीं, दूसरी ओर बीजेपी को केंद्र में पूर्ण बहुमत न मिलने पर एनडीए के सहयोगी दलों की अहमियत बढ़ गई है। ऐसे में नीतीश कुमार किंगमेकर की भूमिका में आ गए हैं। 

खड़गे बड़ा दिल दिखाए होते तो आज यहां नहीं होते, जेडीयू बोली- एनडीए में ही रहेंगे

मुख्यमंत्री नीतीश के एनडीए छोड़कर इंडिया गठबंधन में जाने की अटकलें भी लगाई गईं। आरजेडी, कांग्रेस समेत अन्य दलों के नेताओं ने नीतीश को अप्रत्यक्ष रूप से न्योता भी दे दिया। आरजेडी ने कहा कि नीतीश ने ही इंडिया गठबंधन की नींव रखी, ऐसे में उनका इस अलायंस में स्वागत है। हालांकि, जेडीयू ने साफ किया है कि वह एनडीए छोड़कर कहीं नहीं जा रही है और पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश में सरकार का गठन किया जाएगा।