ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारचाचा को बीजेपी ने हाईजैक किया, विस भंग कर लोकसभा संग चुनाव चाहते हैं सीएम; तेजस्वी के निशाने पर नीतीश

चाचा को बीजेपी ने हाईजैक किया, विस भंग कर लोकसभा संग चुनाव चाहते हैं सीएम; तेजस्वी के निशाने पर नीतीश

तेजस्वी यादव ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमें लगता है भाजपा ने हमारे चाचा (नीतीश कुमार) को हाईजैक कर लिया है। हम नौजवान हैं, नयी सोच के हैं, हमें नया बिहार बनाना है।

चाचा को बीजेपी ने हाईजैक किया, विस भंग कर लोकसभा संग चुनाव चाहते हैं सीएम; तेजस्वी के निशाने पर नीतीश
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,मोतिहारीWed, 21 Feb 2024 07:57 PM
ऐप पर पढ़ें

जन विश्वास यात्रा पर निकले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बुधवार को पूर्वी चंपारण के मोतिहारी और पश्चिम चंपारण के लौरिया में जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हमें लगता है भाजपा ने हमारे चाचा (नीतीश कुमार) को हाईजैक कर लिया है। हम नौजवान हैं, नयी सोच के हैं, हमें नया बिहार बनाना है। उन्होंने कहा कि जदयू राज्य में तीसरे नंबर की पार्टी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को तीसरे नंबर पर जाने से दिक्कत हो रही है। इसलिए विधानसभा भंग करना चाहते हैं और लोकसभा के साथ चुनाव कराना चाहते हैं। मेरी उन्हें चुनौती है कि चुनाव करा लें। विधानसभा में तो वे हारेंगे ही, लोकसभा में भी भाजपा को ले डूबेंगे। 

आपकी लड़ाई लड़ने आया हूं:
मोतिहारी के स्पोर्ट्स क्लब मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए तेजस्वी ने कहा कि सीएम हमारे लिए आदरणीय थे, हैं एवं रहेंगे लेकिन अब बुजुर्ग हो चुके हैं। उनके पास न कोई विजन है और न गठबंधन बदलने का कोई रीजन। अब उनसे बिहार चलने वाला नहीं है। नए लोगों को मौका मिलना चाहिए। पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि गांधी की कर्मभूमि पर आपके बीच आपकी लड़ाई लड़ने आया हूं। आपका साथ चाहिए। 

राजद की माई भी जनता और बाप भी जनता :
तेजस्वी यादव ने लौरिया के साहूजैन इंटरस्तरीय स्कूल में आयोजित सभा में कहा कि राजद माई-बाप की पार्टी है। मुस्लिम और यादवों के साथ बहुजन, अगड़ा, आधी आबादी और पुअर लोगों की पार्टी है। राजद की माई भी जनता है और बाप भी जनता है। आपलोगों ने लालूजी पर विश्वास दिखाया। मैंने 2020 के चुनाव में वादा किया था कि हमपर विश्वास कीजिए। पहले साइन से 10 लाख लोगों को रोजगार दूंगा। भाजपा पर पार्टी तोड़ने का प्रयास करने की बात लेकर मेरी मां के पास सीएम साहब पहुंचे। उन्होंने हां कर दिया लेकिन मेरा मन नहीं था। देश भर के नेताओं का दबाव आया और लालूजी के कहने पर फिर से महागठबंधन की सरकार बनी। हमने उनसे कहा कि मेरा पहला एजेंडा 10 लाख नौकरी देने का है। उन्होंने कहा कि मेरे 17 महीने के कार्यकाल में पांच लाख लोगों को सरकारी नौकरी मिली। अब चाचा फिर से पलट गये हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें