ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारदारोगा हत्याकांड का एक आरोपी गिरफ्तार, नवादा से दबोचा गया मिथलेश ठाकुर, ट्रैक्टर से SI को रौंदा था

दारोगा हत्याकांड का एक आरोपी गिरफ्तार, नवादा से दबोचा गया मिथलेश ठाकुर, ट्रैक्टर से SI को रौंदा था

जमुई में एसआई प्रभात रंजन को ट्रैक्टर से कुचलकर हत्या को अंजाम देने वाले एक आरोपी मिथलेश ठाकुर को नवादा से गिरफ्तार किया गया है। अन्य आरोपी कृष्ण रविदास की तलाश जारी है। मामले में SIT का गठन हुआ है।

दारोगा हत्याकांड का एक आरोपी गिरफ्तार, नवादा से दबोचा गया मिथलेश ठाकुर, ट्रैक्टर से SI को रौंदा था
Sandeepलाइव हिन्दुस्तान,जमुईWed, 15 Nov 2023 08:10 AM
ऐप पर पढ़ें

जमुई के गढ़ी थाने में तैनात दारोगा प्रभात रंजन की ट्रैक्टर से कुचलकर हत्या के मामले में पुलिस को पहली सफलता हाथ लगी है। नवादा से आरोपी मिथलेश ठाकुर को गिरफ्तार किया गया है। वहीं मुख्य आरोपी कृष्ण रविदास की तलाश में लगातार छापेमारी की जा रही है। दारोगा हत्याकांड के आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

डीएम और एसपी ने मंगलगवार को संयुक्त रूप से प्रेस कांफ्रेंस बताया कि बालू के अवैध कारोबार को रोकने के लिए जिले में चार चेक पोस्ट बनाए गए हैं, जहां 24 घंटे रोस्टर वाइज दंडाधिकारी और पुलिस पदाधिकारी की तैनाती होती है। अवैध बालू कारोबार के विरुद्ध जिला प्रशासन की तेज हुई कार्रवाई के कारण ही इस तरह की घटना हुई है। जिला प्रशासन हर चीज पर नजर रख रहा है। दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

यह भी पढ़िए- दारोगा की हत्या पर बोले मंत्री चंद्रशेखर- पहली बार नहीं हुआ, ऐसी घटनाएं होती रहती हैं

एसपी डॉक्टर शौर्य सुमन ने कहा कि घटना काफी दुखद है। उन्होंने कहा कि जब गढ़ी थाना के एडिशनल एसएचओ प्रभात रंजन को सूचना मिली कि अवैध बालू उत्खनन कर ट्रैक्टर नवादा की ओर जा रहा है तो उन्होंने तत्काल ट्रैक्टर का पीछा किया। इस दौरान होमगार्ड का जवान उनके साथ था। उन्होंने कहा कि जान-बूझकर बालू माफिया द्वारा ट्रैक्टर को चढ़ा दिया गया। गंभीर रूप से घायल होमगार्ड के जवान को जब होश आया तो उसने पूरी घटना की जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि इस घटना में कृष्णा रविदास के अलावा उसी गांव का मिथलेश ठाकुर भी शामिल है जो चनरबर के समीप सैलून चलाता है। उन्होंने कहा कि दो दिन पहले कृष्णा रविदास को प्रभात रंजन के द्वारा पकड़ कर लाया गया था। उसके पास से कुछ नहीं मिलने के कारण उसे छोड़ दिया गया। उस मामले की भी जांच हो रही है।

एसपी ने बताया कि शहीद दारोगा के परिवार वालों से संपर्क स्थापित कर उन्हें हर संभव सहयोग का भरोसा दिलाया गया है। जिले के सभी पुलिसकर्मियों ने तत्काल आर्थिक सहायता के रूप में एक दिन का वेतन शहीद दारोगा के परिवार वालों को देने का निर्णय लिया है। परिवार को आर्थिक लाभ दिलाने के लिए डीएसपी मुख्यालय के नेतृत्व में एक कमेटी का गठन किया गया है ताकि जल्द से जल्द परिवार को लाभ मिले। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी जमुई जिला पुलिस शहीद दरोगा के परिवार वालों के साथ खड़ी रहेगी। उन्होंने कहा कि इस घटना से पुलिस का मनोबल नहीं टूटेगा। अवैध उत्खनन के विरुद्ध पुलिस का अभियान और तेज होगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें