ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार ईशान किशनः 2 साल में ही हासिल किया स्टारडम, ईशान पर क्या कहते हैं सचिन-धौनी जैसे महान खिलाड़ी

ईशान किशनः 2 साल में ही हासिल किया स्टारडम, ईशान पर क्या कहते हैं सचिन-धौनी जैसे महान खिलाड़ी

14 मार्च 2021 को टी 20 मैच से अंतरराष्ट्रीय करियर शुरू करनेवाले ईशान के खाते में सबसे कम उम्र में कई कीर्तिमान हैं। वनडे में बसे तेज दोहरा शतक लगाने का रिकॉर्ड उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ बनाया।

 ईशान किशनः 2 साल में ही हासिल किया स्टारडम, ईशान पर  क्या कहते हैं सचिन-धौनी जैसे महान खिलाड़ी
Sudhir Kumarहिंदुस्तान,पटना रांचीSun, 11 Dec 2022 08:54 AM
ऐप पर पढ़ें

स्टारडम ऐसे ही नहीं आता। परफॉर्मेंस से ही कोई स्टार बनता है। 12 साल की उम्र में क्रिकेट के लिए बिहार छोड़न झारखंड पहुंचने वाले खिलाड़ी ईशान किशन ने अपने परफॉर्मेंस से स्टारडम हासिल किया है। महज 24 साल की उम्र में ही ईशान आज क्रिकेट की दुनिया के फलक पर पहुंच गए हैं। लगभग दो साल में ही इनका स्टारडम काफी बड़ा हो गया है।

14 मार्च 2021 को टी 20 मैच से अंतरराष्ट्रीय करियर शुरू करनेवाले ईशान के खाते में सबसे कम उम्र में कई कीर्तिमान हैं। वनडे में सबसे तेज दोहरा शतक लगाने का रिकॉर्ड उन्होंने शनिवार को बांग्लादेश के खिलाफ बनाया। डेब्यू टी-20 मैच में इंग्लैंड के खिलाफ 56 रन बनाकर वे पदार्पण मैच में अर्द्धशतक लगानेवाले भारत के दूसरे खिलाड़ी बने। 2016-17 में प्रथम श्रेणी मैच में 273 रन की पारी खेलकर उन्होंने अपने बड़े इरादे सभी को बता दिए थे। जब-जब ईशान को क्रीज पर उतरने का मौका मिला, उन्होंने बता दिया कि वे स्टार प्लेयर हैं।

बिहार के लाल ईशान ने किया डबल धमाल,  झूम उठा प्रदेश;  परिवार में जश्न

 

ईशान ने अपने घर रांची में पिछले नौ अक्तूबर को दक्षिण अफ्रीका के साथ वनडे में 84 गेंद में 93 रन की धमाकेदार पारी खेली थी। स्ट्राइक रेट था 110.7। तभी जता दिया था कि वे तूफान लाने को आतुर हैं। तब कहा था कि मेरी ताकत छक्के लगाना है, स्ट्राइक रोटेट की क्या जरूरत। इसके 62 दिन बाद ही तूफानी बैटिंग से वर्ल्ड रिकॉर्ड बना झारखंड व रांची का नाम इतिहास में दर्ज करा दिया।

दादा ने बांटी मिठाइयां खुशी से झूमे लोग

औरंगाबाद जिले के दाउदनगर प्रखंड के गोरडीहा गांव में शनिवार को ईशान किशन के प्रदर्शन पर जश्न का माहौल रहा। ईशान किशन के दादा राम अनुग्रह पांडेय किसी काम से बाजार गए थे। वे तत्काल घर लौटे और पूरा मैच उन्होंने देखा। कहा- ईशान किशन शुरू से ही प्रतिभाशाली रहे हैं। कुछ दिनों पूर्व ईशान किशन से बात हुई थी, तब वह दिल्ली में थे। इस प्रदर्शन से उन्हें हार्दिक खुशी हुई।

 "क्यों, जदयू को राष्ट्रीय दर्जा दिलाइएगा न", नीतीश ने ललन सिंह को दी बड़ी जिम्मेवारी; बिहार में पार्टी के 70 लाख सदस्य

दादी बोलीं वर्षों तक याद रहेगा मैच

ईशान की दादी ने कहा कि बांग्लादेश के साथ तीन मैच का वनडे सीरीज भारतीय टीम पहले ही 2-0 से हार चुकी है, लेकिन ईशान की पारी के कारण यह मैच हम सभी को लम्बे समय तक याद रहेगा। अपनी शानदार और तूफानी पारी से सभी का दिल जीतने में कामयाब रहने वाले ईशान को यह मैच भी भाग्य से ही मिल सका था। कप्तान रोहित शर्मा की अंगुली में चोट लगने के बाद तीसरे वनडे में ईशान को खेलने का मौका दिया गया था। वह शिखर धवन के साथ ओपनिंग करने आए और फिर बांग्लादेश के जाहूर अहमद चौधरी स्टेडियम चटोग्राम में अपने करिश्मे से सबको चमत्कृत कर दिया। केएल राहुल की कप्तानी में ईशान के प्रदर्शन पर जिला क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश कुमार मुरारी, सचिव मनीष आनन्द, सदस्य मनीष कुमार गोविंद समेत हैप्पी इंडिया के तन्ने पठान आदि ने हर्ष जताते हुए ईशान किशन से आगे भी ऐसे ही धमाकेदार पारियों की उम्मीद जतायी है।

दोहरे शतक से दादी घर में जश्न का माहौल

 भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार खिलाड़ी ईशान किशन के रिकॉर्ड दोहरे शतक से नवादा में जश्न का माहौल है। उनकी दादी पूर्व सीएस डॉ. सावित्री शर्मा ने अपने आवास, क्लिनिक और आसपास खूब मिठाइयां बांटी। उन्होंने कहा कि एक दिन उनका पोता भारतीय क्रिकेट का कप्तान बन नवादा सहित पूरे बिहार-झारखंड का नाम देशभर में रौशन करेगा। वहीं, ईशान की इस नायाब सफलता पर उनके दादीघर में बधाई देने का सिलसिला जारी है। नवादा के पुरानी जेल रोड स्थित उनके दादीघर में देर रात तक लोग आते रहे। कैरियर के 10वें वनडे की 9वीं पारी में ही अपने पहले शतक को ही दोहरे शतक में तब्दील करने में ईशान किशन सफल रहे। इस दोहरे शतक के साथ ही वनडे में विश्व का सबसे युवा बल्लेबाज होने का गौरव ईशान ने हासिल कर लिया। साथ ही वन डे में विश्व का सबसे तेज दोहरा शतक मात्र 126 गेंद में बना डालने का रिकॉर्ड भी उन्होंने अपने नाम कर लिया। उनकी इस आतिशी पारी के गवाह नवादा के क्रिकेटप्रेमी भी बने।

महान खिलाड़ियों की क्या है राय

क्रिकेट के दिग्गजों ने भी ईशान की प्रतिभा की पहचान उनके करियर की शुरुआत में ही कर ली थी। कई स्टार क्रिकेटरों ने तभी बता दिया था कि वे भविष्य के खिलाड़ी हैं...

सचिन ने कहा था- ऊपर करे बैटिंग

सचिन तेंदुलकर आईपीएल की टीम मुंबई इंडियंस के मेंटॉर के रूप में ईशान की कई बार तारीफ कर चुके हैं। सचिन की सलाह थी कि ईशान को मध्यक्रम के बदले ऊपर बल्लेबाजी करनी चाहिए। अंडर 19 वर्ल्ड कप के दौरान भी सचिन ने ईशान की बल्लेबाजी की सराहना की थी। उन्हें बल्लेबाजी की कई बारिकियां बताई थीं। साथ ही कूल रहने के साथ तूफानी बल्लेबाजी के गुर बताए थे।

भविष्य का प्लेयर है ईशानः  द्रविड़

राहुल द्रविड़ की कोचिंग में ही 2016 में ईशान अंडर-19 इंडिया टीम में रहे। उनके फोकस और क्रिकेट की समझ को देखते हुए राहुल द्रविड़ ने उन्हें कप्तानी सौंपी थी। बेंगलुरू स्थित नेशनल क्रिकेट अकादमी में ईशान द्रविड़ के साथ लंबे समय तक साथ रहे। राहुल द्रविड़ हमेशा से उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी के रूप में भविष्य का सितारा बताते रहे।

गुरु धौनी ने बार-बार दिए टिप्स

महेंद्र सिंह धौनी को ईशान हमेशा से गुरु मानते आए हैं। धौनी भी ईशान को सितारा बताते रहे हैं। जब भी धौनी को अवसर मिला, उन्होंने ईशान को आगे बढ़ने के टिप्स दिए। झारखंड रणजी टीम के मेंटॉर के रूप में भी धौनी ने ईशान को आगे बढ़ाने के लिए कुछ शॉट में बदलाव करने के टिप्स दिए थे। इस पर ईशान ने अमल भी किया और अपनी बल्लेबाजी को आक्रामक बनाया। अब रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया।

रोहित का विश्वास- बड़ी पारियां खेलेगा

टीम इंडिया में हों या आईपीएल की टीम मुंबई इंडियंस, रोहित शर्मा के चहेते खिलाड़ी रहे हैं ईशान किशन। रोहित ने कई बार प्रमोट कर ईशान से ओपनिंग बल्लेबाजी कराई। आईपीएल में रोहित खुद के साथ ईशान को ओपनिंग के लिए उतारते थे। ईशान ने भी बड़ी पारियां खेलकर भरोसा कायम रखा। बांग्लादेश के खिलाफ ईशान की बल्लेबाजी से रोहित शर्मा का विश्वास उन पर और बढ़ गया होगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें