DA Image
12 सितम्बर, 2020|3:26|IST

अगली स्टोरी

पटना के लिए रवाना हुए SP विनय तिवारी, बोले- मुझे नहीं, सुशांत मामले की जांच को क्वारंटाइन किया गया था

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले की जांच के लिए मुंबई गई बिहार पुलिस की टीम को लीड करने पहुंचे पटना एसपी विनय तिवारी को बीएमसी ने क्वारंटाइन कर दिया था। इस मामले पर काफी हंगामा भी हुआ। अब बीएमसी ने विनय तिवारी को क्वारंटाइन से छोड़ दिया है। वे शुक्रवार को मुंबई से पटना के लिए रवाना हो गए।

मुंबई से निकलते समय पत्रकारों से बातीच में उन्होंने कहा कि मुझे नहीं, बल्कि सुशांत मामले की जांच को क्वारंटाइन किया गया था। आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी ने कहा, 'मैं कहूंगा कि मुझे नहीं बल्कि जांच को ही क्वारंटाइन कर दिया गया था। बिहार पुलिस की जांच को रोका गया।'

जबरन क्वारंटाइन करने पर मचा था हंगामा
आईपीएस विनय तिवारी को क्वारंटाइन करने पर काफी हंगामा मच गया था। बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार के सत्तापक्ष और विपक्ष के कई नेताओं ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी। मामले में सु्प्रीम कोर्ट तक ने कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा था कि 'अभिनेता की मौत के मामले में सच्चाई सामने आनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मुंबई पुलिस की पेशेवर प्रतिष्ठा अच्छी है लेकिन बिहार पुलिस ऑफिसर को क्वारंटाइन करने से अच्छा संदेश नहीं गया है।'

 

बिहार पुलिस ने दी थी कानूनी कार्रवाई की चेतावनी
वहीं बिहार के डीजीपी ने सुशांत मामले की जांच के लिए मुंबई गए आईपीएस विनय तिवारी को लौटने की मंजूरी नहीं देने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी थी। डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा था कि पटना के एसपी विनय तिवारी को जबरन क्वारंटाइन में रखे जाने पर सरकार को पूरे प्रकरण की जानकारी दी गई है। अगर उन्हें नहीं छोड़ा गया तो महाधिवक्ता से राय लेकर शुक्रवार को तय करेंगे कि क्या करना है। अदालत भी जाने का एक विकल्प है। उन्होंने कहा कि विनय तिवारी मुंबई पुलिस को सूचना देकर गए थे। पत्र लिखकर तीन दिन तक उनके ठहरने के लिए आईपीएस मेस की व्यवस्था कराने का अनुरोध किया था। आईपीएस मेस में ठहरने की व्यवस्था नहीं होने पर वे जहां ठहरे हुए थे, आधी रात को बीएमसी ने बिना जांच कराए उन्हें क्वारंटाइन कर दिया। बीएमसी अधिकारी विनय को छोड़ने को तैयार नहीं हैं।

बीएमसी ने दिखाई थी हेकड़ी, कहा था 15 अगस्त तक होम क्वारंटाइन रहना होगा
इससे पहले आईपीएस को जबरन क्वारंटाइन के मुद्दे पर बीएमसी अधिकारियों ने कहा था कि सेंट्रल पटना के एसपी विनय तिवारी को क्वारंटाइन से छूट चाहिए तो उन्हें शर्तें मानने के साथ आवेदन करना होगा, तभी उन्हें मुंबई से जाने की इजाजत दी जा सकती है। अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो 15 अगस्त तक उन्हें होम क्वारंटाइन रहना होगा।  तिवारी को गोरेगांव के एसआरपीएफ गेस्ट हाउस में रखा गया है। बीएमसी अफसरों ने कहा कि तिवारी को वार्ड अधिकारी या अन्य सक्षम अधिकारी के समक्ष क्वारंटाइन से छूट के लिए आवेदन करना होगा और तब इस पर निर्णय लिया जाएगा। मुंबई के एसीपी पी वेलरासु ने कहा कि तिवारी ऑनलाइन महाराष्ट्र के अधिकारियों से संपर्क साध सकते हैं। उन्हें नगर निकाय के नियमों का पालन करना होगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:ips vinay tiwari leaves for patna from mumbai says i was not quarantine but the investigation was quarantine sushant singh death case