DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार: लेक्चरर बहाली के मामले में बीपीएससी से जवाब तलब

BPSC

सरकारी टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेजों में 478 लेक्चरर की बहाली के लिए प्रकाशित रिजल्ट को चुनौती देने वाली अर्जी पर पटना हाईकोर्ट ने बीपीएससी से जवाब तलब किया है। अदालत ने आयोग को 19 अगस्त तक जवाबी हलफनामा दायर कर स्थिति स्पष्ट करने का आदेश दिया है। 

गुरुवार को न्यायमूर्ति डॉ. अनिल कुमार उपाध्याय की एकलपीठ ने डॉ. कुमार संजीव की ओर से दायर रिट याचिका पर सुनवाई की। अदालत को बताया गया कि सरकारी टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज में लेक्चरर की बहाली के लिए आयोजित खुली प्रतियोगिता परीक्षा के रिजल्ट में व्यापक गड़बड़ी की गई है। 

यही नहीं, बहाली के लिए प्रकाशित विज्ञापन संख्या 02/2016 की शर्तों के साथ छेड़छाड़ कर रिजल्ट का प्रकाशन किया गया है। 16 विषयों के कुल 478 लेक्चरर की नियुक्ति के लिए योग्य आवेदकों से आवेदन की मांग की गई थी। बीपीएससी ने 60 अंकों के बहुविकल्प वस्तुनिष्ठ प्रश्नों वाले एक पेपर की परीक्षा लेकर सभी 478 पदों का रिजल्ट प्रकाशित कर दिया।

यही नहीं, 2.5 गुणा की वजाय तीन गुणा रिजल्ट निकाला गया। किस कोटि में कितनी कटऑफ पर रिजल्ट निकाला गया, इसका जिक्र बीपीएससी ने कहीं नहीं किया है। 25 अभ्यर्थी को तीन-तीन विषयों के लेक्चरर के लिए सफल घोषित किया गया है। आलम यह है कि आयोग ने जिन्हें लेक्चरर के लिए सुयोग्य नहीं पाया, उन्हें अंग्रेजी, हिन्दी या फिर उर्दू के लिए सुयोग्य करार देकर रिजल्ट प्रकाशित कर दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:inquiries with bpsc over Lecturer Rehabilitation by patna high court