DA Image
16 दिसंबर, 2020|11:51|IST

अगली स्टोरी

बिहार: भारत-नेपाल सीमा पर नेपाली पुलिस ने पांच भारतीय को मारी गोली, एक की मौत

bihar   firing on india-nepal border

बिहार में सीतामढ़ी के सोनबरसा के जानकीनगर लालबंदी भारत-नेपाल बॉर्डर पर शुक्रवार की सुबह नेपाल पुलिस और भारतीय क्षेत्र के लोगों के बीच जमकर हिंंसक झड़प हुई। झड़प बढ़ने पर नेपाल सशस्त्र पुलिस ने फायरिंग कर दी जिसमें एक भारतीय की मौत हो गई और चार गंभीर रूप से जख्मी हो गए। इनमें से तीन को इलाज के लिए सीतामढ़ी के निजी अस्पताल में लाया गया, जबकि एक को नेपाल पुलिस अपने साथ लेकर चली गई। एक अन्य घायल के पैर को छूकर गोली निकल गयी थी। उसका इलाज स्थानीय स्तर पर सोनबरसा में ही करवाया गया।

सूचना मिलते ही एसएसबी के साथ-साथ स्थानीय सोनबरसा पुलिस-प्रशासन भी मौके पर पहुंच गये हैं तथा बॉर्डर पर उपजे तनाव को कम करने के प्रयास में जुट गए हैं। दोनों देशों के स्थानीय अधिकारी बैठक कर मामले को सुलझाने में लगे हैं। एसएसबी 51वीं बटालियन के डिप्टी कमांडेंट सत्येंद्र कुमार ने बताया कि हिंसक झड़प और फायरिंग समेत पूरे मामले की जांच की जा रही है। डिप्टी कमांडेंट ने बताया कि स्थिति पर नजर रखी जा रही है। जांच के बाद ही पूरा मामला सामने आएगा। वहीं नेपाल पुलिस का कहना है कि जब भीड़ में शामिल कुछ लोग उनका हथियार छीनने लगे तब गोली चलानी पड़ी। हालांकि ग्रामीण इस बात से इनकार कर रहे हैं। 

इधर, सोनबरसा पुलिस के मुताबिक मृत व्यक्ति की पहचान लालबंदी जानकी नगर के विकेश यादव के रूप में की गयी है। घायलों में सोहरवा के उदय शर्मा तथा जानकी नगर के उमेश राम व  लगन यादव तथा एक अन्य शामिल हैं। इसमें लगन को नेपाल पुलिस अपने साथ लेकर चली गई। सूचना के मुताबिक उसका इलाज नेपाल के मलंगवा स्थित किसी अस्पताल में कराया जा रहा है। इधर, सीतामढ़ी में घायलों का इलाज कर रहे डा. वरुण कुमार ने बताया कि एक जख्मी के दाहिने पैर तथा दूसरे के दाहिने हाथ में गोली लगी है। ऑपरेशन कर गोली निकाल दी गयी है। दोनों की स्थिति पहले से काफी बेहतर है।

शव के साथ इंडो-नेपाल बॉर्डर पर जमे हैं ग्रामीण: 
नेपाली पुलिस बल की गोली से मृत विकेश यादव के शव को इंडो-बॉर्डर पर रखकर ग्रामीण जमे हैं। ग्रामीण नेपाली पुलिस की ओर से गिरफ्तार किए गए लगन यादव को छोड़ने और गोली चलाने वाले पुलिस वालों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। उधर, दोनों देशों के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मामले को लेकर बैठक कर रहे हैं।

विवाद का क्या है मामला:
सीतामढ़ी में इलाज करवा रहे उमेश राम ने पुलिस को बताया कि लगन किशोर यादव के बेटे की शादी नेपाल के गुलरिया गांव में है। लगन किशोर की समधन अपनी बेटी से मुलाकात करने के लिए भारतीय क्षेत्र में आ रही थी। लेकिन नेपाल पुलिस ने उसे नेपाल क्षेत्र में ही रोक दिया। सूचना पर लगन किशोर सहित कई ग्रामीण वहां पहुंचे और नेपाल पुलिस से उसे बेटी मिलने देने की अनुमति देने का आग्रह करने लगे। लेकिन इस दौरान नेपाल पुलिस आक्रोशित होकर लाठीचार्ज करने लगी। थोड़ी देर बाद काफी संख्या में लोग बॉर्डर पर एकत्रित हो गए। तब नेपाल पुलिस ने हवाई फायरिंग करते हुए भीड़ को खदेड़ दिया। उमेश का आरोप था कि नेपाल सशस्त्र पुलिस ने अंदर आकर हमलोगों पर फायरिंग की, जिसमें पांच लोग जख्मी हो गए। जख्मी लगन किशोर यादव को नेपाली पुलिस घसीटते हुए अपने साथ ले गयी।

बॉर्डर पर नेपाली सशस्त्र पुलिस व स्थानीय लोगों में झड़प हुई है। नेपाली सशस्त्र पुलिस की ओर से फायरिंग में एक की मौत हुई है। दो घायलों का इलाज सीतामढ़ी में चल रहा है। एसएसबी के साथ स्थानीय प्रशासन मामले पर नजर रखकर जांच कर रही है।
- अनिल कुमार, एसपी, सीतामढ़ी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:India Nepal border Nepal police firing 5 Indians shot 1 dead Sitamarhi Bihar