ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारराजनीति में बंद दरवाजे खुलते भी हैं; नीतीश के BJP संग आने पर बोले सुशील मोदी

राजनीति में बंद दरवाजे खुलते भी हैं; नीतीश के BJP संग आने पर बोले सुशील मोदी

बिहार की राजनीति में जारी उथल-पुथल के बीच बीजेपी के राज्यसभा सांसद सह पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने बड़ा संकेत दिया है। सुशील मोदी के बयान से जीतनराम मांझी के उन कयासों को बल मिलता दिख रहा है।

राजनीति में बंद दरवाजे खुलते भी हैं;  नीतीश के BJP संग आने पर बोले सुशील मोदी
Sudhir Kumarलाइव हिंदुस्तान,दिल्ली पटनाFri, 26 Jan 2024 01:00 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार की राजनीति में जारी उथल-पुथल के बीच बीजेपी के राज्यसभा सांसद सह पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने बड़ा संकेत दिया है। सुशील मोदी के हालिया बयान से जीतनराम मांझी के उन कयासों को बल मिलता दिख रहा है जिसमें उन्होंने कहा था कि नीतीश कुमार महागठबंधन छोड़कर एनडीए के साथ आ जाएंगे। दिल्ली में अमित शाह की बैठक के बाद सुशील मोदी पटना के लिए रवाना हो चुके हैं। इस बीच प्रदेश की राजधानी में बीजेपी कार्य समिति की बैठक बुलाई गई है जिसे लेकर राजनीतिक हलचल और तेज हो गई है। सुमो ने गुरुवार की रात दिल्ली में बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व के साथ बिहार भाजपा की हुई बैठक के बारे में भी जानकारी दी।

दिल्ली से पटना रवाना होने के पहले सुशील कुमार मोदी ने पत्रकारों से बात की। उनसे सवाल पूछा गया कि कल की बैठक में क्या बात हुई। इस पर सुशील मोदी ने कहा कि कल की बैठक में लोकसभा चुनाव पर चर्चा हुई बगैर किसी सवाल के धारा प्रवाह बोलते हुए सुशील मोदी ने कहा कि जहां तक नीतीश कुमार जेडीयू का सवाल है तो राजनीति में हमेशा दरवाजा बंद नहीं रहता है। जो दरवाजा बंद किया जाता है आवश्यकता पड़ने पर वह खुल भी सकता है। अब खुलेगा या नहीं खुलेगा या क्या होगा, इस पर मैं कुछ नहीं कर सकता। केंद्रीय नेतृत्व इन चीजों को तय करता है, लेकिन बंद दरवाजे राजनीति में जरूर के हिसाब से खुलती भी हैं।

पटना में प्रदेश कार्य समिति की बैठक को लेकर उन्होंने कहा कि वह रूटिंग मीटिंग है। हर तीन महीने पर होती रहती है। सुशील मोदी ने फिर कहा कि राजनीतिक संभावनाओं का खेल है कुछ भी हो सकता है। लेकिन अभी मैं इसे ज्यादा कुछ नहीं कह सकता कि बंद दरवाजे खुलते भी हैं। इससे ज्यादा मैं अभी कुछ नहीं कर सकता क्योंकि राजनीति में दरवाजा कभी परमानेंट बंद नहीं होता बंद दरवाजे खुलते भी हैं और फिर कभी उन्हें बंद भी किया जाता है।

इससे पहले गुरुवार को सुशील मोदी ने कहा था कि राज्यों में गठबंधन या सीट शेयरिंग पर अंतिम फैसला केंद्रीय नेतृत्व लेता है। अगर नीतीश कुमार को एनडीए में लाने का निर्णय ऊपर से हो जाता है तो प्रदेश बीजेपी के इसे स्वीकार करना पड़ेगा। शुक्रवार को उन्होंने उससे एक कदम आगे की बात कह दी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें