ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारनई-नवेली दुल्हन भाग गई, खोजने के लिए थाने पर धरना दे रहे सैकड़ों लोग, पूर्व विधायक भी पहुंचे

नई-नवेली दुल्हन भाग गई, खोजने के लिए थाने पर धरना दे रहे सैकड़ों लोग, पूर्व विधायक भी पहुंचे

बिहार के दिघलबैंक में 10 दिन पहले नवविवाहिता को बहला-फुसलाकर अगवा कर लिया गया था। अब तक उसकी कोई जानकारी हाथ नहीं लगी है। इसलिए उसकी बरामदगी के लिए पूर्व विधायक के नेतृत्व में धरना प्रदर्शन हुआ है।

नई-नवेली दुल्हन भाग गई, खोजने के लिए थाने पर धरना दे रहे सैकड़ों लोग, पूर्व विधायक भी पहुंचे
dighalbank protest
Ratanलाइव हिंदुस्तान,दिघलबैंकTue, 18 Jun 2024 07:08 PM
ऐप पर पढ़ें

मंगलवार को दिघलबैंक हाट में पूर्व विधायक गोपाल अग्रवाल के नेतृत्व में स्थानीय लोगों ने एक धरना प्रदर्शन आयोजित किया। यह धरना नवविवाहित को पुलिस प्रशासन द्वारा जल्द से जल्द वापस लाने की खातिर किया गया था।  करीब 10 दिन पहले दिघलबैंक थाना क्षेत्र के मोहमारी गिरी टोला से एक नवविवाहिता का अपहरण हो गया था। उसको अब तक नहीं खोजा जा सका है।

अब तक नवविवाहिता के न मिलने के कारण आज मंगलवार के दिन दिघलबैंक हाट में धरना प्रदर्शन करते हुए पुलिस से यह मांग की गई कि बिना किसी देरी के नवविवाहित को ढूंढ़ा जाए ताकि पीडित परिवार को न्याय दिलाया जा सके। अगर पुलिस प्रशासन ऐसा करने में असमर्थ साबित होता है तो जनता पुलिस के खिलाफ मजबूर होकर सड़क पर उतरेगी और धरना प्रदर्शन करेगी। 

आसपास वालों ने बताया कि 9 जून को मोहमारी गिरी टोला निवासी दिनेश गिरी की नवविवाहित को एक आरोपी बहला फुसलाकर भगा ले गया। पीडित पति ने पुलिस को दर्ज कराई शिकायत में घर में रखे गहने और नगदी भी चोरी होने का आरोप लगाया है। पीडित ने 10 जून को दिघलबैंक थाना में लिखित सूचना दी थी। इसके बाद पुलिस ने प्रारंभिक जांच के बाद एफआईआर भी दर्ज कर ली थी। 

लेकिन घटना के 10 दिन बीत जाने के बावजूद पुलिस खाली हाथ है। पीडित परिवार को न्याय नहीं मिल पा रहा है। उन्हें अपने घर की नवविवाहित वधु के वापस लौटने का इंतजार अभी भी है। जैसे-जैसे दिन बीत रहे हैं लोगों के अंदर गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है।  इसी कारण लड़की को वापस लौटाने की मांग के साथ धरना प्रदर्शन किया गया था। इसके साथ ही प्रशासन को चेतावनी भी दी थी कि अगर लड़की वापस खोजकर नहीं लाई गई तो और भी सख्त रुख अपनाया जाएगा।