ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारफोन की रिंग बजते ही हुआ ब्लास्ट, युवक हुआ जख्मी, लोग कॉल रिसीव करने से घबराए

फोन की रिंग बजते ही हुआ ब्लास्ट, युवक हुआ जख्मी, लोग कॉल रिसीव करने से घबराए

बिहार के भागलपुर से युवक के जेव में रखे फोन के फटने से उसके जख्मी होने की खबर सामने आने से लोगों के मन में फोन को लेकर डर बैठ गया है। लोगों ने बताया कि इसी बीच पाकिस्तान से भी फेक कॉल्स आ रही हैं।

फोन की रिंग बजते ही हुआ ब्लास्ट, युवक हुआ जख्मी, लोग कॉल रिसीव करने से घबराए
Ratanहिंदुस्तान,नाथनगरThu, 13 Jun 2024 04:25 PM
ऐप पर पढ़ें

गर्मी में इन दिनों भीषण गर्मी का कहर बरप रहा है। इसी गर्मी में आए दिन मोबाइल फटने की घटनाएं भी सामने आ रही हैं। ऐसी ही एक हालिया घटना भागलपुर जिले में हुई। यहां एक युवक की पैंट में रखे फोन में अचानक ब्लास्ट हो गया। धमाका इतना तेज था कि युवक की दाहिनी जांघ जख्मी हो गई है। युवक ने बताया कि उसके फोन पर एक कॉल आई थी। उसने कॉल रिसीव करना चाहा कि इससे पहले ही उसके जेव में रखा मोबाइल फोन फट गया।    

युवक की पहचान नाथनगर शांति समिति के सक्रिय सदस्य संजय कुमार यादव के छोटे भाई जयदेव यादव के तौर पर हुई है। संजय यादव ने बताया कि उसका छोटा भाई जयदेव हाफ पैंट में मोबाइल डालकर बाहर निकला था। उसके फोन पर कॉल आई, जैसे ही उसने उठाने के लिए पॉकेट में हाथ टाला वैसे ही फोन फट गया। संजय बताते हैं कि शुक्र है कि फोन कान के पास नहीं फटा। अगर ऐसा होता तो हादसा और भी भयानक हो सकता था।

आसपास के लोगों ने बताया इन दिनों +92 से शुरू होने वाले नंबर से कई लोगों को फोन कॉल आ चुके हैं। ये पाकिस्तान के नंबर से आने वाले फेक कॉल हैं। इन नंबरों से लोगों को काफी परेशानी हो रही है। कभी पैसा मांगते हैं तो कभी मोबाइल हैक हो जाता है। लोगों ने अपना डर जाहिर किया कि अब इस तरह के फोन कॉल आने पर उन्हें उठाने में डर लगने लगा है कि कहीं उनके साथ भी अनहोनी न घट जाए। 

नाथनगर के चिकित्सा प्रभारी डॉ. अनुपमा सहाय ने कहा कि ऐसी घटना पहले भी देखने को मिल चुकी हैं। इनमें कॉल आते ही फोन ब्लास्ट हो जाया करता है। इसलिए सावधानी ही एकमात्र विकल्प रह जाती है। उन्होंने बताया कि लोगों को हमेशा मोबाइल फोन का इंटरनेट ऑन नहीं रखना चाहिए। हमेशा मोबाइल को शरीर से टच करके भी नहीं रखना चाहिए, क्योंकि इसमें से खतरनाक रेडिएशन निकलते हैं। सोते समय मोबाइल को तकिए के नीचे रखकर चार्ज नहीं करना चाहिए।