DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › अवैध बालू खनन: पांचवे अधिकारी पर कसा ईओयू का शिकंजा, दर्ज हुआ आय से अधिक संपत्ति का मामला, रडार पर हैं 41 ऑफिसर
बिहार

अवैध बालू खनन: पांचवे अधिकारी पर कसा ईओयू का शिकंजा, दर्ज हुआ आय से अधिक संपत्ति का मामला, रडार पर हैं 41 ऑफिसर

हिन्दुस्तान ब्यूरो,पटनाPublished By: Sneha Baluni
Fri, 17 Sep 2021 06:38 AM
अवैध बालू खनन: पांचवे अधिकारी पर कसा ईओयू का शिकंजा, दर्ज हुआ आय से अधिक संपत्ति का मामला, रडार पर हैं 41 ऑफिसर

बालू के अवैध खनन में संलिप्तता के आरोप में हटाए गए अधिकारियों के खिलाफ ईओयू की कार्रवाई जारी है। आईपीएस अधिकारी और भोजपुर के तत्कालीन एसपी राकेश कुमार दूबे पर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में कार्रवाई से पहले चार अन्य अधिकारी इसकी जद में आ चुके हैं। 

ऐसे कसता गया शिकंजा

अधिकृत कंपनी द्वारा कई जिलों में बालू का खनन बंद करने के बाद भी यह धंधा जारी रहने के चलते सरकार ने पूरे मामले की जांच का जिम्मा ईओयू को सौंपा था। ईओयू ने भोजपुर, रोहतास, औरंगाबाद, पटना और सारण जिले में हो रहे अवैध खनन और परिवहन को लेकर व्यापाक जांच शुरू की। इसे इतनी गोपनीयता से किया गया कि फील्ड में तैनात रहने के बावजूद अधिकारियों को भनक तक नहीं लगी। 

जांच रिपोर्ट के आधार पर दो आईपीएस, एक एसडीओ, चार एसडीपीओ समेत पुलिस, परिवहन, खनन और राजस्व विभाग के 41 अधिकारियों को फील्ड से हटाते हुए मुख्यालय में अटैच कर दिया गया। इनमें अधिकतर निलंबित भी कर दिए गए। इन्हीं 41 अधिकारियों में भोजपुर के एसपी रहे राकेश कुमार दूबे भी शामिल थे। 

कई अन्य अधिकारियों पर हो सकती है कार्रवाई

बालू के अवैध खनन में जिन अधिकारियों पर प्रशासनिक कार्रवाई की गई, अब उनकी संपत्ति की जांच हो रही है। जांच के क्रम में अबतक पांच अधिकारियों के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का मामला दर्ज किया गया है। सबसे पहले आय से अधिक संपत्ति मामले में डेहरी के तत्कालीन एसडीओ सुनील कुमार सिंह पर कार्रवाई हुई थी। 

इसके बाद पालीगंज के एसडीपीओ रहे तनवीर अहमद, आरा सदर के तत्कालीन एसडीपीओ पंकज कुमार रावत, आरा के एमवीआई रहे विनोद कुमार और अब भोजपुर के तत्कालीन एसपी राकेश कुमार दूबे पर मामला दर्ज किया गया है। आशंका जताई जा रही है कि आनेवाले दिनों में कई अन्य अधिकारियों के खिलाफ भी आय से अधिक संपत्ति को लेकर कार्रवाई हो सकती है।

संबंधित खबरें