ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारहथियार लहराया तो बन सकते हैं हत्या के आरोपी! बिहार पुलिस की हर्ष फायरिंग पर सख्ती

हथियार लहराया तो बन सकते हैं हत्या के आरोपी! बिहार पुलिस की हर्ष फायरिंग पर सख्ती

सामाजिक कार्यक्रमों में हथियार लहराने वाले हत्या और हत्या के प्रयास के आरोपी बन सकते हैं। अपर पुलिस महानिदेशक , विधि व्यवस्था संजय कुमार ने सभी जिलों के एसपी को हर्ष फायरिंग पर सख्ती के निर्देश दिए

हथियार लहराया तो बन सकते हैं हत्या के आरोपी! बिहार पुलिस की हर्ष फायरिंग पर सख्ती
Sandeepहिन्दुस्तान ब्यूरो,पटनाTue, 05 Dec 2023 07:20 AM
ऐप पर पढ़ें

शादी, मुंडन या अन्य किसी भी प्रकार के सामाजिक कार्यक्रमों में हथियार लहराया तो हत्या या हत्या के प्रयास के आरोपी बन सकते हैं। अपर पुलिस महानिदेशक, विधि व्यवस्था संजय कुमार सिंह ने सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश जारी कर हथियारों के प्रदर्शन पर रोक लगाने और इसके लिए आवश्यक कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। सिंह ने बताया कि अकारण हथियारों के प्रदर्शन करने की प्रवृति बेहद घातक है। इससे अमूमन, दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है। 

उन्होने कहा कि आर्म्स एक्ट में लाइसेंसी हथियारों के रख-रखाव को लेकर स्पष्ट निर्देश है। इसके बावजूद सामाजिक-पारिवारिक कार्यक्रमों में हथियारों के प्रदर्शन किए जाने पर तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार रोहतास, भोजपुर, गोपालगंज सहित अन्य भोजपुरी बहुल क्षेत्रों में हथियार लहराने की घटना पर विशेष नजर रखी जा रही है। वहीं, औरंगाबाद, अरवल, खगड़िया, पूर्णिया एवं भागलपुर को भी हथियार लहराने की घटना को लेकर चिन्हित किया गया है।

बिहार में जनवरी से 14 नवंबर तक 86 हर्ष फायरिंग के मामले दर्ज किए गए है। इनमें जनवरी में 2, फरवरी में 8, मार्च में 11, अप्रैल में 4, मई में 25, जून में 18, जुलाई में 8, अगस्त में 6, सितंबर व अक्टूबर में 1-1 एवं नवंबर में 2 मामले दर्ज किए गए हैं। ग्रामीण इलाकों में चौकीदार एवं स्थानीय मुखबिरों के माध्यम से खुफिया सूचनाएं भी जुटायी जा रही है। वहीं, पहले ही, कार्यक्रमों के आयोजन को लेकर विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए गए है। इसके तहत चौकीदार, थाना अध्यक्ष, आयोजनकर्ता एवं आयोजन स्थल के प्रबंधन की भी भूमिका तय की गयी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें