ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारधमकियों से डर नहीं लगता, रीढ़ की हड्डी कभी झुकी है क्या? रोहिणी आचार्या ने पीएम मोदी पर बोला हमला

धमकियों से डर नहीं लगता, रीढ़ की हड्डी कभी झुकी है क्या? रोहिणी आचार्या ने पीएम मोदी पर बोला हमला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा जेल भेजने वाले बयान को लेकर रोहिणी आचार्या ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि कई वर्षों से वो धमकी दे रहे हैं। उनके धमकियों से हम डरने वाले नहीं हैं।

धमकियों से डर नहीं लगता, रीढ़ की हड्डी कभी झुकी है क्या? रोहिणी आचार्या ने पीएम मोदी पर बोला हमला
Malay Ojhaलाइव हिन्दुस्तान,पटनाTue, 28 May 2024 08:44 PM
ऐप पर पढ़ें

कुछ दिन पहले बिहार के बक्सर में चुनावी सभा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरजेडी प्रमुख लालू यादव और तेजस्वी यादव पर बड़ा हमला बोला था। पीएम ने कहा था कि बिहार के लोगों से नौकरी के बदले जमीन लेने वाले लोगों का जेल का काउंटडाउन शुरू हो गया है। हेलिकॉप्टर का चक्कर खत्म होते ही इनके लिए जेल का रास्ता खुल जाएगा। पीएम मोदी के इस बयान को लेकर विपक्ष की ओर से लगातार हमला बोला जा रहा है। इसी कड़ी में मंगलवार को लालू की बेटी और सारण लोकसभा सीट से आरजेडी उम्मीदवार रोहिणी आचार्या ने भी पीएम पर हमला बोला है। 

रोहिणी आचार्या ने कहा है कि उन्होंने (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) साबित कर दिया कि ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स सब उनकी जेब में है। उन्हीं के बदौलत ही न धमकी दे रहे हैं। रोहिणी ने सवालिया लहजे में कहा कि धमकी देने से लोग रुक जाएगा और हमलोग डर जाएंगे? इतने वर्षों से हमें डरा रहे हैं और धमकी दे रहे हैं, क्या हम लोग डर गए हैं? रीढ़ की हड्डी कभी झुकी है। केवल लालू यादव को छोड़कर कईयों को धमकी देकर के अपने पाले में कर लिया।

मुझे अगर खंरोच भी आई तो भाजपा जिम्मेदार होगी; सारण हिंसा के बाद भड़कीं रोहिणी आचार्या

चार जून को चकनाचूर हो जाएगा लालू परिवार का सपना : सम्राट चौधरी
वहीं दूसरी ओर बिहार के डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी ने कहा है कि 4 जून को  लालू परिवार का हसीन सपना चकनाचूर हो जाएगा। अपनी दोनों बेटियों की संभावित हार से लालू प्रसाद हताशा में हैं। एक को सारण के लोगों ने ठुकरा दिया है तो दूसरी को पाटलिपुत्र की जनता ने तीसरी बार भी खारिज करने का मन बना लिया है। उन्होंने कहा कि चारा घोटाले के सजायाफ्ता लालू प्रसाद बीमारी व इलाज के बहाने जेल से बाहर आए हैं। केवल परिवार तक सीमित रहने वाले लालू प्रसाद अपनी बेटियों को लेकर परेशान हैं, जबकि नरेंद्र मोदी देश की 140 करोड़ जनता की समृद्धि और भारत को पूरी दुनिया में श्रेष्ठ बनाने के लिए प्रयासरत है।