How will Chhath Puja be done at Patna Ghats - हिन्दुस्तान पड़ताल: इस बार घाटों को अर्घ्य के लिए तैयार करना चुनौती DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिन्दुस्तान पड़ताल: इस बार घाटों को अर्घ्य के लिए तैयार करना चुनौती

                  -

लोक आस्था का महापर्व छठ नजदीक है। चार दिवसीय छठ पूजा की शुरुआत नहाय खाय के साथ 31 अक्टूबर से होनी है। इसमें 19 दिन शेष हैं। गंगा घाटों पर लाखों श्रद्धालु छठ महापर्व करने आएंगे लेकिन अभी घाटों पर कीचड़ और गंदगी का अंबार लगा है। अब गंगा का पानी धीरे-धीरे कम हो रहा है। 

दुर्गापूजा की विसर्जन भी नहीं हटाई गई है। सीढ़ियों पर काफी मिट्टी जमा हो गई है। कई घाट पूरी तरह से दलदलनुमा हो गये हैं। यह स्थिति एक नहीं पटना के लगभग सभी घाटों की है। अब जिला प्रशासन, नगर निगम सहित संबंधित सभी विभागों को तैयारी के लिए महज 15 दिन शेष रह गये हैं। वर्ष 2016 में भी बाढ़ के चलते ऐसी स्थिति हुई थी। प्रशासन की ओर से अभी अधिकारी सिर्फ जानकारी प्राप्त करने के लिए घाटों पर पहुंच रहे हैं। पूजा समितियों के सदस्यों से पूछ रहे हैं कि कितनी लाइटें लगेंगी, वॉच टॉवर कहां बनाया जाएगा। प्रशासन का कंट्रोल रूम कहां बनाया जाएगा। बाहर से आने वाले लोग कहां ठहरेंगे, शौचालय किधर होगा आदि ताकि घाटों को छठ पूजा के लिए पूरी तरह से तैयार किया जा सके।

- कई घाटों पर दलदल की स्थिति पसरा हुआ है कूड़ा-कचरा
- पाथवे पर मिट्टी के चलते एक से दूसरे घाट पर जाना मुश्किल
- घाट तक पहुंचने वाले कई   लिंक रोड हो चुके हैं खराब 
- पूजा समितियों से व्यवस्था की अभी जानकारी ले रहा प्रशासन
- कुछ मजदूर सफाई में लगे हैं लेकिन रफ्तार है काफी धीमी

पाथवे पर मोटी परत
कई घाटों के पाथवे पर भी मिट्टी की मोटी परत जमी है। पूरा रास्ता ही ब्लॉक है। एनआईटी और कृष्णा घाट के बीच में बाढ़ का पानी हटने के बाद पाथवे पर काफी दूर तक जलकुंभी है। इसी तरह से बीएन कॉलेज घाट के पास पाथवे पर चलने की स्थिति नहीं है। रास्ता ब्लॉक हो गया है। हालांकि कुछ मजदूर से हटा रहे हैं पर रफ्तार काफी धीमी है। वहीं इससे आगे के घाट पर भी वही स्थिति है। कृष्णा घाट से पटना कॉलेज के बीच में भी ऐसे ही हालात हैं। इसी रास्ते से होकर छठ जाएंगे। 

लिंक रोड खराब 
गंगा घाट पर पहुंचने वाले कई लिंक रास्तों की स्थिति अच्छी नहीं है। पटना के सबसे प्रमुख घाटों में शुमार दरभंगा हाऊस काली मंदिर घाट के मुख्य मार्ग की हालत खराब है। इस रास्ते पर सौ मीटर से अधिक दूर तक गड्ढे बन चुके हैं। इससे रास्ता भी संकरा हो गया है। इस रास्ते पर अतिक्रमण करके दुकानें खोल दी गयी हैं। इसी तरह से वंशी घाट तक पहुंचने वाली सड़क भी खराब है। घाट के पास ही बीच सड़क पर वेंडिंग जोन आधा-अधूरा बनाकर छोड़ दिया गया है। 

लॉ कॉलेज से लेकर कलेक्ट्रेट घाट तक बदहाल
पटना के प्रमुख घाटों की भी स्थिति अच्छी नहीं है। सभी घाटों पर मिट्टी और कीचड़ है। घाटों पर सफाई की व्यवस्था भी सुचारू तरीके से शुरू नहीं हो सकी है। एनआईटी घाट पर लोगों की अधिक भीड़ होती है। इस घाट पर पानी घटने के बाद जाने लायक स्थिति नहीं है। कदम घाट और पटना कॉलेज घाट दलदलनुमा हो गए हैं। काली घाट पर भी मिट्टी का ढेर लगा है। इसी तरह से लॉ कॉलेज घाट, बड़हड़वा, कृष्णा घाट, वंशीघाट, टीएन बनर्जी घाट, महेन्द्रू घाट, बीएन कॉलेज घाट, अंटा घाट, बांकीपुर घाट और कलेक्ट्रेट पर भी काफी मिट्टी है। 

अभी घाटों की स्थिति अच्छी नहीं है। अभी प्रशासन सिर्फ जानकारी प्राप्त कर रही है। समय रहते अगर कार्यो को निष्पादित नहीं किया गया तो दिक्कत होगी। वंशी घाट पर दलदल की स्थिति बनी हुई है। घाट पर नाले का पानी आ रहा है। इसे बंद कराना होगा। 
-शशि कुमार, सचिव, वंशीघाट पूजा समिति 

दरभंगा काली घाट पटना का सबड़े घाट है। इस घाट पर पहुंचने का मार्ग बहुुत खराब हो गया है। इस घाट पर नाले का पानी गिरता है। साथ ही कूड़े का अंबार लगा है। इसे हटाना जरूरी है। घाट पर लगी मिट्टी बड़ी समस्या है। 
-इंजीनियर करण कुमार, सचिव, काली घाट पूजा समिति

गंगा घाटों पर छठ को लेकर समुचित व्यवस्था करने के लिए टेंडर कर दिया गया है। छठ के पहले घाटों पर साफ-सफाई सुनिश्चित कर ली जाएगी। घाटों को छठ महापर्व के लायक बना दिया जाएगा। नगर निगम के कार्यपालक अधिकारियों को जरूरी निर्देश दे दिए गए हैं।  
-सीता साहू, मेयर पटना नगर निगम

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:How will Chhath Puja be done at Patna Ghats